Home > Archived > करने चले थे होम ....मगर हाथ जल गए.....!!

करने चले थे होम ....मगर हाथ जल गए.....!!

 Special Coverage News |  13 Nov 2016 8:04 AM GMT  |  New Delhi

करने चले थे होम ....मगर हाथ जल गए.....!!

पीएम मोदी के नाम एक सोशल मिडिया पर एक चिठ्ठी लिखी गई है.

आदरणीय नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी ,
प्रधानमंत्री,भारत सरकार

आपकी आकस्मिक उद्घोषित,अपूर्व साहसिक योजना के अनुपालन में देशवासियों ने हर कष्ट सह कर भी सरकार का साथ दिया है किन्तु खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इस आकस्मिक प्रतिबन्ध के फलस्वरूप उपजने वाली समस्याओं के त्वरित समाधान की पूर्व नियोजित तैयारियां आपकी सरकार ने न की थी न की जा रही है । अल्प आय वर्ग के लोग जो अपना दिन मजदूरी या नौकरी में गुजारते थे अब बैंक की लाइन में गुजारने को विवश हैं ।जरा सोचिए रोज कुआँ खोदकर रोज पानी निकालने,पीने वाले जिंदगी कैसे गुजर कर रहे होंगे ?


आपके वित्तमंत्री अरुण जेटली साहब की लापरवाही भरी टिप्पड़ियां हमें व्यथित कर रही हैं । उनके अनुसार अभी स्थितियों से उबरने में 2-3 सप्ताह लग सकते हैं ।एक वित्त मंत्री का ये अनिश्चितता भरा जवाब सरकार की तैयारियों पर संदेह पैदा करता है ।


प्रतिबंधों से उपजी समस्यायों के निवारण के कई उपाय हो सकते थे । आपको जनता की समस्याओं को देखते हुए बैंकों के अतिरिक्त (चुनाव की तरह पोलिंग बूथ बनाकर ) एक निश्चित आबादी पर बूथ बनाकर मनी एक्सचेंज की व्यवस्था करवानी थी और paytm जैसी किसी संस्था को collaborate कर जो काम आप बैंकों से करवा रहे वो इनसे करवा कर डिजिटल करेंसी में पैसे बदलवाते ।इससे शहरी वर्ग डिजिटल कैश से अपनी समस्यायों से निपटता और ग्रामीण वर्ग उन बूथ पर जाकर पैसे बदलता ।बैंकों पर भीड़ कम होती । एटीएम मशीनों की तकनीकी समस्याओं का पूर्व निवारण तक नही किया गया था यदि एटीएम सुविधाएं अनवरत शुरू हो जाये तो 50 प्रतिशत लोग संतुष्ट हो जायेंगे ।


ग्रामसभा स्तर पर कार्यरत ग्राम विकास अधिकारियों को अस्थायी तौर पर बैंकों से संबद्ध कर उनके माध्यम से भी 500/1000 के नोट बदले जा सकते थे ,जिससे समस्या आसानी से निपट सकती थी ।

कृपया अविलंब प्रभावी कदम उठाएं वरना आपका देश की बेहतरी के लिए उठाया गया ये कदम आपके लिए आपकी पार्टी के लिए आत्मघाती न साबित हो जाये ....फिर आपके लोग ही कहेंगे-" करने चले थे होम ....मगर हाथ जल गए...!!"
सादर-
अनिल द्विवेदी

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top