Top
Home > Archived > एसपी ने किया 48 घन्टे में बीएसएफ दरोगा की हत्या का खुलासा, दो अभियुक्त गिरफ्तार

एसपी ने किया 48 घन्टे में बीएसएफ दरोगा की हत्या का खुलासा, दो अभियुक्त गिरफ्तार

 Special Coverage News |  27 Nov 2016 11:41 AM GMT  |  New Delhi

एसपी ने किया 48 घन्टे में बीएसएफ दरोगा की हत्या का खुलासा, दो अभियुक्त गिरफ्तार

जनपद बाराबंकी के थाना कोतवाली नगर के घण्टाघर में हुए अविनाश उर्फ मनू रस्तोगी हत्याकाण्ड का खुलासा पुलिस अधीक्षक राजा बाबू ने किया बताया 2 अभियुक्त भी गिरफ्तार किये. 25 नवम्बर को विकास रस्तोगी उर्फ विक्की निवासी लखपेडाबाग थाना कोतवाली नगर ने सूचना दी की मेरे भाई अविनाश उर्फ मनू रस्तोगी को आज समय करीब 09.00 बजे अपने दो दोस्तो के साथ घण्टाघर पर खस्ता व मक्खन खिलाने लाया था. पहले से वही पर मौजूद अभियुक्त गण द्वारा लाइसेंसी पिस्टल से अविनाश उर्फ मनू को गोली मारकर घायल कर दिया. जिसकी ट्रामा सेन्टर ले जाते समय मृत्यु हो गई. जिसके आधार पर थाना कोतवाली नगर पर मुु0अ0सं0 751/16 धारा 302/506 भादवि बनाम विकास रस्तोगी उर्फ छोटू व विवेक रस्तोगी उर्फ दीपू पंजीकृत किया गया.


उक्त प्रकरण पर एसपी राजा बाबू सिंह ने सख्ती बरतते हुए इस मामले को अतिशीघ्र खुलासे और मुलाजिम को गिरफ्तार करने को कहा, जिस पर अमलकरते हुए थाना कोतवाली नगर पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की. घटना में प्रयुक्त रिवाल्वर समेत दोनों नामजद अभियुक्त गिरफ्तार कर जेल भेजे. यह जानकारी एसपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर दी.

क्या था मामला
गिरफ्तार शुदा अभियुक्त गणो ने पुछतांछ पर बताया कि मेरे पिता स्व शिवकुुमार रस्तोगी निवासी म0नं0 549 टण्डन कचौडी वाली गली मोहलल कानून गोयान जनपद बाराबंकी की शादी शशि रस्तोगी निवासी हुसैनगंज लखनऊ से हुई थी. जिनसे हम चार भाई 1.विशाल उर्फ रामू 2. विवेक उर्फ दीपू 3. विकास उर्फ छोटू 4. आकाश उर्फ विष्णु है. मेरंे पिता बिजनेस करते थे उसी दौरान उनका सम्बन्ध मंजू उर्फ रागिनी अवस्थी पत्नी विनोद अवस्थी निवासी बेगमगंज गमू हार्डवेयर हवेली बाराबंकी से हो गया और मेरे पिता स्व श्री शिव कुमार रस्तोगी ने मंजू उर्फ रागिनी अवस्थी को लखपेडाबाग मेे अलग मकान बनाकर रखने लगे. जिससे क्षुब्ध होकर पहली पत्नी शशि रस्तोगी(मेरी मां) ने 2 अगस्त 1992 मे आग लगाकर आत्महत्या कर ली थी. पहली पत्नी की मृत्यु के पश्चात स्व शिव कुमार रस्तोगी मंजू उर्फ रागिनी अवस्थी के साथ पति-पत्नी के रूप मे जीवन व्यतीत करने लगे. मंजू उर्फ रागिनी अवस्थी के पूर्व पति से एक बेटा बिक्की था तथा शिव कुमार रस्तोगी से दो बेटी ममता रस्तोगी व शालू रस्तोगी उर्फ शालिनी तथा एक बेटा अविनाश उर्फ मन्नू रस्तोगी हुए.ममता रस्तोगी की मृत्यु हो गई है. शिक्षा के पश्चात शालू रस्तोगी उर्फ शालिनी दिल्ली मे नोैकरी करती है तथा अविनाश उर्फ मनू रस्तोगी बीएसएफ मे उप निऋक्षक पद पर नियुक्त होकर जम्मू मे तैनात था.

स्व शिव कुमार रस्तोगी की पहली पत्नी के पुत्र विकास उर्फ छोटू का प्रेम विवाह शक्ति रस्तोगी पुत्री रामानन्द गुप्ता निवासी मोहल्ला पीरबटावन थाना कोतवाली नगर बाराबंकी के साथ हुआ था. रामनन्द गुप्ता की पत्नी लक्ष्मी गुप्ता जो पेशे से वकील है कि दूसरी पुत्री ईशानी का विवाह मृतक अविनाश रस्तोगी से तय हुआ था. इस शादी का विरोध लक्ष्मी गुप्ता के बडे दामाद व मृतक अविनाश के सौतेले भाई विकास उर्फ छोटू द्वारा किया जा रहा था. विकास ने अपनी सास व साली (अविनाश की होने वाली पत्नी)को धमकी भी दी थी कि तुम अविनाश से शादी न करो लेकिन विकास उर्फ छोटू की सास व साली ने बात न मानकर शादी तय कर दी थी. २५ नवम्बर को विवाह होना था उक्त विवाह कार्यक्रम के अवसर पर अविनाश अवकाश पर आया था.

घर मे विवाह की तैयारिया चल रही थी उसके दोस्त विवाह मे सम्मिलित होने के लिये आये थे. मृतक अविनाश अपने दो दोस्तो को सुबह करीब 9.00 बजे घर से मोटर साइकिल से लेकर घण्टाघर के पास खस्ता व मक्खन खिलाने लाया था. वही अभियुक्त विेवेक उर्फ दीपू ने अविनाश केा देखा और घर जाकर अपने भाई विकास उर्फ छोटू को बताया जिस पर विकास उर्फ छोटू अपनी लाइसेंसी पिस्टल लेकर अपने भाई विवेक उर्फ दीपू से विचार कर दोनो जहां दुकान के पास अविनाश खडा था आये और विकास उर्फ छोटू ने अपनी लाइसेसी पिस्टल से जान से मारने की नियत से अविनाश पर ताबडतोड फायरिंग कर घायल कर दिया था. जिसकी ट्रामा सेण्टर मे मृत्यु हो गई थी. पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. मामले की अभी जांच और गहराई से की जा सकती है.

स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it