Top
Begin typing your search...

तम्बाकू के निर्माण व बिक्री पर रोक लगाये सरकार

पैरामेडिकल छात्रों ने लिया नशे से दूर रहने का संकल्प

तम्बाकू के निर्माण व बिक्री पर रोक लगाये सरकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
लखनऊ: आज नशा युवा पीढ़ी को निगल रहा है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चे व मजदूर वर्ग तम्बाकू व बीड़ी सिगरेट के आदी हो रहे हैं। इससे उनके स्वास्थ्य पर कुप्रभाव पड़ता है। तम्बाकू स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है यह जानकर भी लोग इसका सेवन कर रहे हैं। इसलिए सरकार को चाहिए कि उत्तर प्रदेश में तम्बाकू के निर्माण व बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगे। यह बातें पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक डा. आर.आर. भारती ने कही। वह गुरूवार को चिनहट स्थित बाबा पैरामेडिकल इंस्टीट्यूयट में नशा मुक्ति आन्दोलन द्वारा आयोजित संगोष्ठी को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। डा. आर.आर. भारती ने कहा कि नशा मुक्ति के क्षेत्र में नशा मुक्ति आन्दोलन का सराहनीय प्रयास है।


मीठा जहर है तम्बाकू: डा. अनिरूद्ध वर्मा
केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद के सदस्य डा. अनिरूद्ध वर्मा ने मेडिकल छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि तम्बाकू मीठा जहर है जो जिन्दगी को निगल रहा है। उन्होंने कहा कि सिगरेट का हर कश जिन्दगी के पांच मिनट कम कर देता है। धूम्रपान एवं तम्बाकू की वजह से 25 प्रकार के कैंसर होते हैं। सिगरेट के धुएं में 400 प्रकार के रसायन होते हैं जिनमें से 200 रसायन जहरीले होते हैं। डा. अनिरूद्ध वर्मा ने बताया कि सिगरेट और तम्बाकू की लत असमय मौत का कारण बनता है। सबसे खतरनाक बात यह है कि सबसे ज्यादा युवा इसके शिकार हो रहे हैं जो देश का भविष्य हैं।

धूम्रपान निषेध कानून का सख्ती से होगा पालन
तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के राज्य सलाहकार सतीश त्रिपाठी ने बताया कि अब हर जिले में सरकार नशा उन्मूलन क्लीनिक खोलेगी। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान निषेध कानून का अब सख्ती से पालन किया जायगा और उल्लंघन करने पर जुर्माना वसूला जायेगा।

तम्बाकू व धूम्रपान के सेवन से दूर रहें युवा
नशा मुक्ति आन्दोलन के संयोजक बृजनन्दन यादव ने इस मौके पर कहा कि अगर उत्तर प्रदेश को स्वस्थ,समृद्ध व स्वावलम्बी प्रदेश बनाना है तो सरकार को प्रदेश में तम्बाकू पर रोक लगानी होगी। उन्होंने पैरामेडिकल छात्रों से कहा कि वह स्वयं नशे से दूर रहें व जागरूक नागरिक का कर्तव्य निभाते हुए अपने मित्रों को भी जागरूक करें।
नशा मुक्ति पखवाड़े का शुभारम्भ

पैरामेडिकल छात्रों ने लिया नशे से दूर रहने का संकल्प
बाबा पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट में गुरूवार को संगोष्ठी के साथ नशा मुक्ति पखवाड़े का शुभारम्भ हो गया। अब 15 दिन तक लगातार प्रदेशभर में तम्बाकू के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाया जायेगा।

नशा मुक्ति आन्दोलन द्वारा संगोष्ठी में केन्द्रीय होम्योपैथिक परिषद के सदस्य व पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक डा. आर.आर. भारती ने पैरामेडिकल छात्र-छात्राओं को नशे से दूर रहने का संकल्प दिलाया। इस मौके पर बाबा पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट के निदेशक डा. आर.के.बाजपेई, डा. राकेश बाजपेई, वीरेन्द्र पाण्डेय और इंस्टीट्यूट के छात्र-छात्राएं और स्टाफ उपस्थित था।
शिव कुमार मिश्र
Next Story
Share it