Breaking News
Home > Archived > इलाहाबाद: दरगाह में मानसिक रोगियों को बांधकर रखे जाने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका

इलाहाबाद: दरगाह में मानसिक रोगियों को बांधकर रखे जाने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका

 Special Coverage News |  18 Nov 2016 12:07 PM GMT  |  इलाहाबाद

इलाहाबाद: दरगाह में मानसिक रोगियों को बांधकर रखे जाने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका

इलाहाबाद: हिम्मत गंज में स्थित हजरत अली मुनव्वर शाह की दरगाह में हर शुक्रवार और सोमवार को मानसिक रोगियों को बांधकर रखे जाने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका। यहां हजारों लोग प्रतिदिन दूर-दूर से दरगाह में अपनी फरियाद लेकर आते हैं। मान्‍यता है कि यहां आने पर लोगों के शरीर से बुरी आत्‍माएं निकल जाती हैं। हजरत शाह मुनव्‍वर अली रहमत उल्ला बाबा की उम्र 708 साल की है।

कहते हैं कि जिसके ऊपर ऊपरी चक्कर होता है, वो बाबा के गेट पर पहुंचने के बाद भी अंदर नहीं जाता है। वहां बाबा के सेवक उसे जबरदस्ती गेट के अंदर कर देते हैं और फिर वह अपने आप ही बाबा की चौखट पर चला जाता है। बाबा की चौखट पर पहुंचते ही बुरी आत्‍मा वाले लोग जमीन पर लोटने लगते हैं। पीड़ि‍त का परिवार दरगाह में ही र‍हता है, जब तक वो पूरी तरह ठीक न हो जाए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top