Home > Archived > PM पद की उम्मीदवारी पर कांग्रेस के सुर अलग, राहुल के लिए चुनौती बने नीतीश

PM पद की उम्मीदवारी पर कांग्रेस के सुर अलग, राहुल के लिए चुनौती बने नीतीश

 Special News Coverage |  22 April 2016 1:44 PM GMT

PM पद की उम्मीदवारी पर कांग्रेस के सुर अलग, राहुल के लिए चुनौती बने नीतीश

पटना: बिहार की महागठबंधन सरकार में शामिल जदयू, राजद व कांग्रेस मिशन 2019 के तहत PM पद की उम्मीदवारी के मुद्दे पर एकमत नहीं दिख रहे है। महागठबंधन के घटक दल जदयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार पीएम पद के दावेदार के रूप में उभरे हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस राहुल गांधी को अगला प्रधानमंत्री प्रत्याशी मानकर चल रही है। परीक्षा महागठबंधन के साथ-साथ खुद नीतीश के कौशल की भी होगी कि सहयोगी दलों को एकजुट रखते हुए कैसे मंजिल तक पहुंचें।


राष्ट्रीय जनता दल द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री के रूप में समर्थन किए जाने के बीच बिहार में महागठबंधन (जेडीयू-आरजेडी-कांग्रेस) सरकार में शामिल कांग्रेस ने इसे समय से पूर्व चर्चा बताया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश के शिक्षा मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने आज कहा कि लोकसभा का चुनाव 2019 में संपन्न होना है। इस विषय अभी चर्चा का उचित समय नहीं है और अगले तीन सालों में गंगा से काफी पानी बह चुका होगा।

चौधरी ने कहा कि यह आंकडों का खेल है और जो भी दल राष्ट्रीय स्तर पर सबसे अधिक सीटें जीतेगी वह केंद्र में सरकार बनाएगी। चौधरी ने कहा कि कांग्रेस एक राष्ट्रीय स्तर की पार्टी है और हमारे पास अधिक संख्या बल होंगे (अन्य धर्मनिरपेक्ष दलों की तुलना में)। उन्होंने कहा कि हर दल की मंशा होती है कि उनके पार्टी नेता प्रधानमंत्री के पद पर आसीन हों। आरजेडी लालू प्रसाद को, त्रिणमूल कांग्रेस ममता बनर्जी को और कांग्रेस राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के रूप में देखा चाहती है।

चौधरी ने कहा कि जहां तक प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार पर चर्चा का सवाल है नीतीश कुमार जी ने स्वयं यह स्पष्ट कर दिया है कि वे इस पद के दावेदार नहीं है। उन्होंने कहा कि जितना अधिक नीतीश कुमार जी का राजनीतिक तौर पर स्वीकारिता बढ़ेगी उतना ही राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने का मार्ग प्रशस्त होगा।

इससे पूर्व कांग्रेस के महासचिव शकील अहमद ने राष्ट्रीय स्तर पर किसी प्रकार के गठबंधन से इंकार करते हुए कहा था कि 2019 के आते-आते मोदी सरकार और भाजपा की स्थिति और भी बिगड़ेगी, ऐसे में उनकी पार्टी को किसी प्रकार के गठबंधन की आवश्यक्ता नहीं होगी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top