Home > Archived > मुखर्जी का राष्ट्रवाद आज भाजपा के राज में ही हार गया!

मुखर्जी का राष्ट्रवाद आज भाजपा के राज में ही हार गया!

 Special News Coverage |  6 April 2016 11:33 AM GMT

mukerjee2_1436117209
नई दिल्ली प्रवेश श्रीवास्तव
तिरंगे को फहराने और भारत माता की जय कहने वाले NIT के गैर कश्मीरी छात्रों को कश्मीर की पुलिस ने पीटा और वहां के भाजपाई उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह कह रहे हैं कि मामूली लाठी चार्ज हुआ है।


शायद निर्मल सिंह यह भूल रहे हैं कि उनकी ही पार्टी के हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व नेता मुरली मनोहर जोशी, अनुराग ठाकुर- इन सबकी राष्ट्रवादी राजनीति की शुरुआत ही जम्मू-कश्मीर के लाल चौक पर झंडा फहराने और वहां भारत माता की जय बोलकर हुई थी। आज कश्मीर से लेकर दिल्ली तक उसी भाजपा की सरकार है, और तिरंगा फहराने वाले पीटे जा रहे हैं।



आज भाजपा का स्थापना दिवस है, और आज दिल्ली से कश्मीर तक उनकी सरकार भी है। आज इनके शासन में 'भारत तेरे टुकड़े होंगे' का नारा लगाने वाले छात्रों पर कार्रवाई की जगह पुलिस उनका कैंपस के बाहर इंतजार करती है और 'भारत माता की जय' कहने वालों को कैंपस में घुस कर मारती है। यह है। भाजपा का वह चेहरा जो सत्ता में आते ही वह सेक्यूलरिज्म के बुर्के को ओढ़ कर दिखाती है। भाजपा शायद भूल गई कि वह जब जब बढ़ी है- राष्ट्र, राष्ट्रवाद और हिंदुत्व के बल पर ही बढ़ी है और जब-जब सिकुड़ी है, सत्ता में आकर सेक्यूलर आदत अपनाने के कारण ही सिकुड़ी है। कश्मीर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान का नारा लगाने वाले, उसी कश्मीर में भारतभक्तों को पिटवा रहे हैं।


आज मुखर्जी की आत्मा रो रही होगी और नेहरु की आत्मा प्रफुल्लित होगी। कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाने की कोशिश में जान गंवाने वाले मुखर्जी का राष्ट्रवाद आज भाजपा के राज में ही हार गया और कश्मीर को अलगाववाद की राह पर धकेलने वाले नेहरू का सेक्यूलरिज्म जीत गया। मोदी-राजनाथ जी समझ रहे हैं न इसका मतलब?

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top