Top
Breaking News
Home > Archived > तीन प्रधान मंत्रियों की अलग अलग कार्यशैली, जानिए कौन है सफल पीएम

तीन प्रधान मंत्रियों की अलग अलग कार्यशैली, जानिए कौन है सफल पीएम

 Special News Coverage |  24 April 2016 6:23 AM GMT


बतौर प्रधान मंत्री महमोहन सिंह जी और वाजपेयी जी की कार्यशैली में अंतर था। विभागीय बैठकों में वाजपेयी शुरू शुरू में जमकर हिस्स्सा लिया करते थे। बाद में वे कई बार इन लम्बी बैठकों में ऊँघने लगते थे। जटिलताओं को वे विभागीय सचिवों के लिए छोड़देते थे। इसके विपरीत मनमोहन सिंह इन बैठकों में देर तक बैठे रहते थे, वे फाइल्स पढ़ते थे, नोट लिखते थे। उनकी जानकारी का स्तर उनके सचिवों के लिए रेड सिंग्नल था।

इन दोनों के बाद अब प्रधान मंत्री मोदी जी हैं। उनके अब तक के कार्यशैली से उनकी कोई खास विशिष्ट पहचान नहीं बन पायी है। उनके भाषणों के स्तर से विषयवस्तु पर गहरी पकड़ की कमी का पता चलता है। उनकी कार्यशैली से फिलहाल अनुमान यही लगता है कि वे विषय की गहराईयों और जटिलताओं में जाना पसंद नहीं करते। हाँ, वे विदेश दौरा वे पसंद करते हैं। विदेशी राजनयिकों से मिलना जुलना भी बेहद पसंद करते हैं।




मोदी जी की कार्यशैली पर पत्रकारों और विद्वानों को बात करनी चाहिए। क्योंकि कैसी कार्यशैली है, उसी से पता चलेगा कि वे डिलीवर कर भी पायेंगे या नहीं।

अगर नीतीश प्रधान मंत्री बन पाते हैं, तो वे मनमोहन सिंह की शैली पर कार्य करेंगे। इनकी भी प्रशासन के विभिन्न विभागों पर जबरदस्त पकड है। और ये भी लम्बी मीटिंग्स के लिए जाने जाते हैं।


लेखक बालेन्दुशेखर मंगलमूर्ति

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it