Home > Archived > JNU परिसर में मौत का खौफ, पसरा सन्नाटा चप्पे चप्पे पर चस्पा हुए अमित जानी के पोस्टर

JNU परिसर में मौत का खौफ, पसरा सन्नाटा चप्पे चप्पे पर चस्पा हुए अमित जानी के पोस्टर

 Special News Coverage |  6 April 2016 12:05 PM GMT

12980655_1541192569508024_1923204661_n
नई दिल्ली
उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी द्वारा JNUSU प्रेजिडेंट कन्हैया कुमार को दिल्ली न छोड़ने पे शूटआउट की धमकी देने के बाद जैसे जैसे घोषित डेडलाइन का वक़्त नजदीक आ रहा है।

JNU में ख़ामोशी, सन्नाटा और खौफ ने पैर पसार लिए है। JNU के हर एक स्टूडेंट के दिमाग में बस एक ही सवाल है। क्या JNU में शूटआउट होगा? और यदि हुआ तो फिर उसका अंजाम क्या होगा? देशद्रोह के आरोपी कन्हैया कुमार और खालिद दोनों ने पुलिस को अमित जानी के खिलाफ तहरीर दी थी।


लेकिन अभी तक न पुलिस ने कोई मुकदमा लिखा न ही कोई गिरफ़्तारी की। अमित जानी की गिरफ्तारी हो जाती तो शायद JNU राहत की सांस लेता, लेकिन अमित जानी के पुलिस एक्शन से बाहर होने पर JNU में मौत जैसा सन्नाटा पसरा है। दिन भर हर ब्लॉक, हर छात्रावास, कैंटीन और पुस्तकालय में बस एक ही चर्चा है कि अमित जानी आखिर करने क्या वाला है?


उमर खालिद और कन्हैया कुमार के बाद अब JNUSU उपाध्यक्ष ने भी JNU के एडमिनिस्ट्रेशन को पत्र लिखकर अमित जानी के खिलाफ कार्यवाही की माँग की है। JNU के दवाव और कानून व्यवस्था को देखते हुए थाना वसंत कुञ्ज ने JNU परिसर के चप्पे चप्पे पर अमित जानी के पोस्टर चस्पा कर दिए है, सुरक्षा कर्मियो को हिदायत दी गयी है कि अमित जानी को ठीक से पहचान ले और यदि अमित जानी यहाँ दिखाई दे तो तुरंत पुलिस को सूचित करे।

अमित जानी और कन्हैया दोनों को IB ने अपनी रडार पर ले लिया है। दोनों की एक एक गतिविधि पे गहरी नज़र रखी जा रही है। दिल्ली क्राइम ब्रांच के बड़े अफसर इस मामले में कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहते, वे भी पूरे घटनाक्रम को वाच कर रहे है। कुछ भी हो JNU में आजकल कन्हैया से ज्यादा चर्चा अमित जानी का है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top