Top
Home > Archived > शो रद्द होने पर बोले गुलाम अली, नाराज नहीं दुखी हूँ, : पढ़ें-किसने क्या कहा

शो रद्द होने पर बोले गुलाम अली, नाराज नहीं दुखी हूँ, : पढ़ें-किसने क्या कहा

 Special News Coverage |  8 Oct 2015 7:37 AM GMT

ghulam ali

नई दिल्ली : शिवसेना के लगातार विरोध के बाद पाकिस्तान के प्रख्यात गजल गायक उस्ताद गुलाम अली का 9 अक्टूबर को मुंबई में होने वाला कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। कार्यक्रम रद्द होने के बाद सोशल मीडिया पर यह मुद्दा सुर्खियों में है। वहीं अरविंद केजरीवाल सरकार के संस्कति मंत्री कपिल मिश्रा ने कहा कि पाकिस्तानी गायक का राष्ट्रीय राजधानी में स्वागत है। वह दिल्ली आकर प्रस्तुति दें। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, दुखद है कि गुलाम अली को मुंबई में अनुमति नहीं मिली। मैं उन्हें दिल्ली आने और कंसर्ट करने का आमंत्रण देता हूं। संगीत की कोई सरहद नहीं होती।


क्यों होना था कार्यक्रम
दिवंगत गायक जगजीत सिंह की चौथी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने के लिए गुलाम अली का 9 अक्टूबर को मुंबई में और 10 अक्टूबर को पुणे में कार्यक्रम होने वाला था। दोनों संगीत कार्यक्रम पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया में चर्चा के विषय बने हुए हैं। इनके सभी टिकट बिक चुके हैं। जगजीत सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘एक अहसास’ नाम से कार्यक्रम देश में पेश किया जा रहा है। यह लोगों को संगीत के जरिए जोड़ने का एक मंच उपलब्ध करा रहा है।

कार्यक्रम के आयोजन के अधिकारियों ने कहा कि मुंबई और पुणे के कार्यक्रम में गुलाम अली के शामिल होने से कानून व्यवस्था के लिए दिक्कत पैदा हो सकती है। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह दुनिया भर में मशहूर कलाकार की सुरक्षा की जिम्मेदारी ले।

क्या कहा था शिवसेना ने
शिवसेना की फिल्म शाखा, चित्रपट सेना के महासचिव आदेश बांदेकर ने कहा, 'हम पाकिस्तान की कला और पाकिस्तानी कलाकारों की इज्जत करते हैं लेकिन, हम पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह के सांस्कृतिक संबंध के खिलाफ हैं क्योंकि यह देश सीमा पर लगातार हमारे नागरिकों और सैनिकों पर हमले कर रहा है। उन्होंने कहा कि शिवसेना सिर्फ मुंबई या पुणे ही नहीं, देश में कहीं भी गुलाम अली का कार्यक्रम नहीं होने देगी। कार्यक्रम होंगे लेकिन इसमें गुलाम अली भाग नहीं लेंगे। कार्यक्रम के आयोजकों ने शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मिलने के बाद कंसर्ट रद्द करने की घोषणा की थी।




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




क्या कहा गुलाम अली ने
इस सारे मामले पर पाकिस्तानी ग़ज़ल गायक ग़ुलाम अली ने कहा है कि शिवसेना की धमकी के बाद मुंबई में कार्यक्रम रद्द होने से वह नाराज़ नहीं हैं, लेकिन आहत ज़रूर हैं। ग़ुलाम अली ने कहा कि ये कार्यक्रम ग़ज़ल गायक जगजीत सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित किया गया था, जो कि मेरे लिए भाई की तरह थे। इस तरह के विवाद संगीत के सुरों को ख़राब करते हैं। मुझे हमेशा ही हिंदुस्तान के लोगों का प्यार मिला है लेकिन पता नहीं कैसे माहौल इतना खराब हो गया।

सीएम ने ली जिम्मेदारी
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने ग़ुलाम अली को पूरी सुरक्षा देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा था कि अली को पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी और दिवंगत गजल गायक जगजीत सिंह की याद में होने वाला कंसर्ट पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगा। भारत के कलाकार भी पाकिस्तान जाकर कार्यक्रम करते हैं इसलिए कला और राजनीति को नहीं जोड़ना चाहिए।

मंदिर में गा सकते हैं तो मुंबई में क्यों नहीं

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने शिवसेना की आपत्ति पर सवाल किया कि ग़ुलाम अली जब बनारस के संकट मोचन मंदिर में गा सकते हैं तो मुंबई में क्यों नहीं? दिग्विजय ने ट्वीट पर कहा कि शिवसेना भारतीय तालिबान बनना चाहती है। उन्होंने कहा, "क्या शिवसेना हमारे धर्म की बनारस के ब्राह्मणों से बड़ी पहरेदार है? वो और भाजपा/संघ राजनीति के लिए धर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं।"

हिंदू सऊदी अरब बन रहा है भारत
बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने ट्विटर पर लिखा, 'ओ माई गॉड...शिवसेना की धमकी के बाद पाकिस्तानी गायक गुलाम अली का कार्यक्रम रद्द हो गया। भारत हिंदू सऊदी अरब बनता जा रहा है? तस्लीमा ने दूसरे ट्‍वीट में लिखा 'गुलाम अली कोई जेहादी नहीं हैं, वो एक गायक हैं। कृपया जेहादी और गायक के बीच के फर्क को समझने की कोशिश करें।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें





style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it