Top
Home > Archived > कीर्ति के सहारे मार्गदर्शक मंडल करेगा बीजेपी में कुछ नया उजाला!

कीर्ति के सहारे मार्गदर्शक मंडल करेगा बीजेपी में कुछ नया उजाला!

 Special News Coverage |  24 Dec 2015 8:21 AM GMT

LK-ADVANI_
नई दिल्लीः भाजपा से निष्काषित सांसद कीर्ति आजाद को निलंबित किए जाने के बाद पार्टी में सियासी घमासान तेज हो गया,जब गुरुवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच मुलाकात का सिलसिला शुरू हो गया।

लाल कृष्ण आडवाणी मुरली मनोहर जोशी के घर पहुंचे और यशवंत सिन्हा और शांता कुमार भी वहां मौजूद थे। माना जा रहा है कि कीर्ति को निलंबित किए जाने के मुद्दे पर चारों दिग्गज नेतओं के बीच बातचीत हुई। सूत्रों के मुताबिक पार्टी के मार्गदर्शक मंडल में शामिल आडवाणी और जोशी के साथ-साथ ये नेता भी चाहते हैं कि जेटली के खिलाफ डीडीसीए को लेकर लगे आरोपों की जांच कराई जाए।





डीडीसीए में कथित गड़बड़ियों को लेकर कीर्ति लंबे समय से आवाज उठाते रहे हैं। पिछले दिनों भी कीर्ति आजाद ने पीसी कर ये मांग दोहराई थी। उसके बाद बुधवार को पार्टी ने उन्हें निलंबित कर दिया। भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने खुले तौर पर कीर्ति का समर्थन किया। पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि 1999 से लेकर 2013 तक वित्त मंत्री अरुण जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे और उनके कार्यकाल के दौरान काफी अनियमिताएं और भ्रष्टाचार हुआ। कीर्ति ने इसके बाद डीडीसीए में गड़बड़ियों को लेकर कई खुलासे किए थे।


जेटली के खिलाफ जांच चाहता है मार्गदर्शक मंडल
सूत्रों से जानकारी मिली है कि बीजेपी के ये वरिष्ठ नेता अरुण जेटली के मामले में जांच चाहते हैं। वो चाहते हैं कि अरुण जेटली के खिलाफ जांच कमिशन नियुक्त की जाए। माना जा रहा है कि जेटली के खिलाफ जांच बिठाई जा सकती है।

आगे की रणनीति
बीजेपी के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य मिलकर आगे की रणनीति तय करेंगे। निलंबन के बाद कीर्ति आजाद ने पार्टी के मार्गदशक मंडल से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि मार्गदर्शक मंडल और वरिष्ठ नेताओं को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए। सामने आकर इस घटना पर भाजपा का रुख शाफ हो।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it