Home > राजनीति > भागवत के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- भारत न हिंदू राष्ट्र था, न है और न होगा

भागवत के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- भारत न हिंदू राष्ट्र था, न है और न होगा

आरएसएस के सरसंघचालक भागवत यह नहीं कह सकते हैं कि हमारी संस्कृति, आस्था, पंथ और व्यक्तिगत पहचान समेत सब कुछ हिंदू संस्कृति में शामिल है.

 Special Coverage News |  13 Oct 2019 12:21 PM GMT  |  दिल्ली

भागवत के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- भारत न हिंदू राष्ट्र था, न है और न होगा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत के बयान से भड़के ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि भारत न कभी हिंदू राष्ट्र था, ना है और न ही कभी बनेगा.

आरएसएस सरसंघचालक मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि मोहन भागवत भारत को हिंदू राष्ट्र बताकर इतिहास को मिटा नहीं सकते हैं. आरएसएस के सरसंघचालक भागवत यह नहीं कह सकते हैं कि हमारी संस्कृति, आस्था, पंथ और व्यक्तिगत पहचान समेत सब कुछ हिंदू संस्कृति में शामिल है.



ओवैसी ने इसके बाद एक और ट्वीट किया. इस ट्वीट में ओवैसी ने कहा कि कोई फर्क नहीं पड़ता कि भागवत हमें विदेशी मुसलमानों से जोड़ने की कितनी कोशिश करते हैं, लेकिन इससे मेरी भारतीयता कम नहीं होगी. उन्होंने आगे लिखा कि हिंदू राष्ट्र = हिंदू सर्वोच्चता. यह हमारे लिए अस्वीकार्य है.

बता दें कि आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत ने पिछले दिनों कहा था कि भारत हिंदुओं का देश हैं. हम हिंदू राष्ट्र हैं. हिंदू किसी पूजा का नाम नहीं, किसी भाषा का नाम नहीं और किसी प्रांत या प्रदेश का नाम नहीं है. हिंदू एक संस्कृति का नाम है, जो भारत में रहने वाली सबकी सांस्कृतिक विरासत है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top