Top
Breaking News
Home > राजनीति > उन्नाव रेप केस पर लोकसभा में बहस LIVE : सपा कार्यकर्ता को बचाने की साजिश है ये, क्या बात कही मंत्री ने सदन में!

उन्नाव रेप केस पर लोकसभा में बहस LIVE : सपा कार्यकर्ता को बचाने की साजिश है ये, क्या बात कही मंत्री ने सदन में!

यूपी पुलिस ने कहा है कि परिवार की सुरक्षा में लगाए गए पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी कि आखिर इस घटना के वक्त वे कहां थे.

 Special Coverage News |  30 July 2019 6:36 AM GMT  |  दिल्ली

उन्नाव रेप केस पर लोकसभा में बहस LIVE : सपा कार्यकर्ता को बचाने की साजिश है ये, क्या बात कही मंत्री ने सदन में!

नई दिल्ली: उन्नाव रेप केस (Unnao Rape case) का मामला मंगलवार को लोकसभा तक पहुंच गया. इस मुद्दे पर लोकसभा में हंगामा हो गया. बीजेपी ने आरोप लगाया कि पीड़िता की कार को जिस ट्रक से टक्कर लगी वह समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता की है. बीजेपी ने कहा कि सपा रेप जैसे संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति कर रही है, जो किसी भी सूरत में सही नहीं माना जाएगा.

लोक सभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने उन्नाव मामले पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को बयान देने की मांग कर रहे हैं. बीजेपी के नेता प्रलाह्द जोशी ने कहा कि इस मामले को राजनीतिक रूप दिया जा रहा है. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्नाव रेप की जांच एसआईटी से करानी चाहिए.

बीजेपी सांसद जगदम्बिका पाल ने कहा कि उन्नाव रेप पीड़िता की कार की जिस ट्रक से टक्कर हुई है वह समाजवादी पार्टी का है. सपा जानबूझकर इस केस में बीजेपी को बदनाम करने की कोशिश कर रही है.

वहीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति (Sadhvi Niranjan Jyoti) ने कहा कि ट्रक वाला फतेहपुर का रहने वाला है. साथ ही वह समाजवादी पार्टी का कार्यकर्ता है. उसे बचाने के लिए समाजवादी पार्टी बीजेपी को बदनाम करने की कोशिश कर रही है.

मामले की जांच CBI को

मालूूूम हो कि उन्नाव रेप केस की पीड़िता की कार में टक्कर मारने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने पीड़िता के चाचा की मांग को स्वीकार करते हुए मामले की सीबीआई जांच के लिए केंद्र सरकार से सिफारिश कर दी है. इससे पहले सरकार ने कहा था कि अगर पीड़ित का परिवार सीबीआई जांच की मांग करेगा तो सरकार जांच के लिए सिफारिश करेगी.

मालूम हो कि रविवार को रेप पीड़ित लड़की अपने वकील और परिवार के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मुलाकात करने जा रही थी. रायबरेली के अतौरा इलाके में नेशनल हाईवे नंबर 232 पर एक तेज रफ्तार ट्रक ने सामने से टक्कर मार दी थी. इस हादसे में पीड़ित लड़की की चाची और मौसी की मौत हो गई थी और गाड़ी चला रहे वकील महेंद्र सिंह और पीड़ित लड़की घायल हो गए थे. उनकी हालत गंभीर है. दोनों घायलों का इलाज लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है और वह वेंटिलेटर पर हैं.

सपा नेता का है ट्रक

रेप पीड़िता की कार को टक्कर मारने वाला ट्रक समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) नेता नंदू पाल के बड़े भाई देवेंद्र पाल का है. हादसे के बाद फतेहपुर के जेल रोड पर देवेंद्र पाल के मकान में ताला बंद है. बताया जा रहा है कि देवेंद्र पाल ललौली थाना क्षेत्र के मुत्तोर गांव के रहने वाले हैं.

हादसे के वक्त कहां थे सुरक्षा गार्ड

उन्नाव रेप पीड़िता की कार में टक्कर मामले में सवाल उठ रहे हैं कि यह हादसा था या जानबूझकर किया गया अपराध. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि पीड़ित परिवार को शासन की तरफ से 9 पुलिसकर्मियों की सुरक्षा दी गई है, लेकिन हादसे के दौरान उनके साथ एक भी सुरक्षाकर्मी नहीं था. यूपी पुलिस ने कहा है कि परिवार की सुरक्षा में लगाए गए पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जाएगी कि आखिर इस घटना के वक्त वे कहां थे. अगर वे दोषी हैं तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

BJP विधायक सहित 10 पर मामला दर्ज

BJP विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep singh sengar) उनके भाई मनोज सेंगर और आठ अन्य के खिलाफ सड़क दुर्घटना के एक मामले में पुलिस ने एक प्राथमिकी दर्ज की है. इस दुर्घटना में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता व उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जबकि इस हादसे में उनकी दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी. आरोपियों पर दुष्कर्म पीड़िता के चाचा महेश सिंह की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया, जो रायबरेली जेल में बंद हैं.

हादसे में मृत महिलाओं में से एक उन्नाव दुष्कर्म मामले की गवाह थी. दुष्कर्म पीड़िता की मां ने दावा किया कि यह दुर्घटना उनकी बेटी व अन्य को खत्म करने की एक साजिश थी. दरअसल, जिस कार में पीड़िता का परिवार यात्रा कर रहा था, उसे एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी थी. इसके बाद यह मामला एक बड़े विवाद में बदल गया. ट्रक के मालिक, ड्राइवर और क्लीनर को गिरफ्तार कर लिया गया है.

विधायक के खिलाफ दुष्कर्म मामले की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम भी परिवार के सदस्यों से मिलने और फिर पुलिस से दुर्घटना के बारे में जानकारी लेने के लिए अस्पताल पहुंची.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it