Home > राजनीति > इन पांच में से किसी को मिलेगी कांग्रेस की कमान, अध्यक्ष के लिए शॉर्टलिस्ट किए ये नाम

इन पांच में से किसी को मिलेगी कांग्रेस की कमान, अध्यक्ष के लिए शॉर्टलिस्ट किए ये नाम

 Special Coverage News |  24 Jun 2019 9:44 AM GMT  |  दिल्ली

इन पांच में से किसी को मिलेगी कांग्रेस की कमान, अध्यक्ष के लिए शॉर्टलिस्ट किए ये नाम

लंबे समय से कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर लगाए जा रहे अलग-अलग कयासों पर अब विराम लगने के संकेत मिल रहे हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) ने अध्यक्ष पद पर संभावित नाम फाइनल कर लिए हैं. इसे लेकर जल्द ही सीडब्ल्यूसी की मीटिंग होगी, जिसमें आखिरी बार राहुल गांधी से इस्तीफा देने से मनाने की कोशिशें की जाएंगी. इसके बाद भी अगर वह नहीं मानते हैं, तो नए अध्यक्ष का नाम फाइनल कर लिया जाएगा. कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए कई वरिष्ठ नेताओं का नाम चर्चा में है. इनमें से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है.

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, नए अध्यक्ष की रेस में सुशील कुमार शिंदे, मल्लिकार्जुन खड़गे, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, अशोक गहलोत और सचिन पायलट का नाम भी विचार किया जा रहा है. सूत्रों की मानें, तो संगठन के साथ काम करने के अनुभव के आधार पर पार्टी ने अशोक गहलोत के नाम पर मोहर लगाने का मन बना लिया है. अब औपचारिक ऐलान होना बाकी है.

हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि अशोक गहलोत अकेले कांग्रेस अध्यक्ष होंगे या उनकी मदद के लिए कई कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए जाएंगे. वैसे कांग्रेस के कई नेताओं ने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि अगला अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होगा.

वंशवाद पर उठते रहे हैं सवाल

गौरतलब है कि मोदी सरकार हमेशा से कांग्रेस को वंशवाद के मुद्दे पर घेरा है और चुनावों में इसका फायदा भी उसे मिलता रहा है. ऐसे में राहुल गांधी चाहते हैं कि इस बार पार्टी का अध्यक्ष गांधी परिवार से न हो जिससे यह मुद्दा हमेशा के लिए खत्म हो जाए.

एक-डेढ़ साल तक अध्यक्ष पद से दूर रहेंगे राहुल

सूत्रों के मुताबिक, राहुल अगले एक से डेढ़ साल तक कांग्रेस अध्यक्ष पद से दूर रहेंगे, बताया जा रहा है कि कांग्रेस के बड़े नेताओं ने ही ये बीच का रास्ता राहुल गांधी के लिए निकाला है. इस दौरान राहुल गांधी बिना किसी पद के देशभर में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करेंगे. वहीं, नए कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर जल्द ही कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई जा सकती है.

अगले एक साल तक क्या करेंगे राहुल गांधी

राहुल की जिद के आगे झुके कांग्रेस नेताओं ने यह बीच का रास्ता निकाला है, जिसमें राहुल गांधी की बात भी रह जाए और कांग्रेस का अध्यक्ष पद भी खाली न रहे. राहुल बिना किसी जवाबदेही के देशभर में घूमकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलकर संवाद कर सकते हैं. वह बिना पद के मोदी सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ खुल कर आलोचना कर सकेंगे. पद नहीं रहने पर सत्ता पक्ष के निशाने पर कांग्रेस अध्यक्ष होंगे न कि राहुल गांधी. इस प्रयोग के साथ राहुल गांधी उन राज्यों को ज्यादा समय दे सकेंगे जहां कांग्रेस जमीनी स्तर पर अपना वर्चस्व खो चुकी है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top