Top
Begin typing your search...

नागरिता संसोधन बिल पर टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा- ये बिल भारत विरोधी, बंगाल विरोधी है, एनआरसी को लेकर कही कही बड़ी बात

नागरिता संसोधन बिल पर टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा- ये बिल भारत विरोधी, बंगाल विरोधी है, एनआरसी को लेकर कही कही बड़ी बात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। लोकसभा में पहली परीक्षा पास करने के बाद नागरिकता संशोधन बिल पर सरकार की अग्निपरीक्षा आज है। गृह मंत्री अमित शाह संशोधन बिल राज्यसभा में पेश कर दिया और चर्चा जारी है। राज्यसभा में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने धमकी भरे लहजे में कहा कि इस बिल पर संसद में संग्राम होगा लेकिन उसके बाद ये बिल सुप्रीम कोर्ट में भी जाएगा।

उन्होंने इस दौरान कहा कि ये बिल भारत विरोधी, बंगाल विरोधी है। डेरेक ओ ब्रायन बोले कि बीजेपी की नींव तीन बातों पर है सिर्फ झूठ, झांसा और जुमला. आप घुसपैठियों पर अधिकार छीनने का आरोप लगाते हैं लेकिन आपकी सरकार ने 2 करोड़ लोगों का रोजगार छीन लिया।

राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर बहस करते हुए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) को आप एक राज्य में लागू नहीं कर पाए और अब आप पार्लियामेंट को बता रहे हैं कि हम पूरे देश में एनआरसी लागू करेंगे. खुफिया एजेंसी के डायरेक्टर जब हमारे पास आए स्टैंडिंग कमेटी में उन्होंने जो आंकड़े दिया, उसमें 31 हजार थे. गृहमंत्री अगर मुझे टोक रहे हैं मैं कुछ सच बोल रहा हूं ना.

डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि सिर्फ पाकिस्तान के कायदे-आजम जिन्ना की कब्र पर गोल्डन अक्षरों में इस बिल के बारे में लिखा जाएगा, यहां पर इसके बारे में नहीं लिखा जाएगा. डेरेक ओ ब्रायन बोले कि इस बिल को बस दोबारा पैकेजिंग किया जा रहा है. बंगाल के बारे में बात करने से पहले वहां पर आइए, हम भी ढोकला खाते हैं लेकिन आपको बंगाल को समझने की जरूरत है।

डेरेक ओ ब्रायन ने इस दौरान अपना किस्सा सुनाया, उन्होंने कहा कि मेरे दादा क्रिश्चियन थे, जिन्होंने बंगाली महिला से शादी की थी. मेरे दादा और उनके छोटे भाई भारत में रहे, एक भाई पाकिस्तान चले गए. पाकिस्तान में जो ओब्रायन गए उन्होंने या तो देश छोड़ा या धर्म परिवर्तन कर लिया, लेकिन आज भारत में ओब्रायन अभी भी हैं जो यहां की खूबी है।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it