Home > राज्य > राजस्थान > पहलू ख़ान मॉब लिंचिंग केस में सभी 6 आरोपी बरी

पहलू ख़ान मॉब लिंचिंग केस में सभी 6 आरोपी बरी

डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने सबूतों की कमी के आधार पर आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी किया है.

 Special Coverage News |  14 Aug 2019 12:45 PM GMT  |  दिल्ली

पहलू ख़ान मॉब लिंचिंग केस में सभी 6 आरोपी बरी

राजस्थान के पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले में अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है. अलवर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने सबूतों की कमी के आधार पर आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी किया है. इस मामले में पीड़ितों के वकील योगेंद्र सिंह खड़ाना ने कहा है कि फैसले की कॉपी मिलने के बाद इसका अध्ययन कर वे इस फैसले को ऊपरी अदालत में चुनौती देंगे.

बता दें कि इस मामले में कुल 9 आरोपी थे. 9 में से 3 आरोपी नाबालिग थे. बुधवार को अदालत ने 6 आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए निर्दोष करार दिया.

अलवर जिला अदालत में जज साहिबा ने जैसे ही यह आदेश सुनाया कोर्ट के बाहर भारत माता की जय के नारे लगने शुरू हो गए. फैसला आने के बाद आरोपियों के वकील ने कहा की आरोपियों का पर्चा बयान नहीं हुआ था, ना ही उनकी कोई शिनाख्त हुई थी क्योंकि पहलू खान मर चुका था. ऐसे में पुलिस ने गलत केस बनाकर इन्हें गिरफ्तार किया है. बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि जो वीडियो है वह वीडियो बिल्कुल धुंधला है जिसमें किसी की तस्वीर साफ नहीं दिखाई दे रही है और वीडियो कोर्ट में ऐडमिसेबल भी नहीं है. लिहाजा कोर्ट ने इन लोगों को बाइज्जत बरी किया है.

रिपोर्ट के मुताबिक जिस व्यक्ति के बारे में दावा किया गया कि उसने घटना का वीडियो बनाया था, उसने कोर्ट में आकर गवाही नहीं दी कि ये वीडियो उसी ने बनाया है. बचाव पक्ष के वकील के मुताबिक ऐसे में वीडियो की सत्यता पर भी सवाल उठता है. जहां तक मोबाइल लोकेशन की बात है मोबाइल लोकेशन से यह साबित नहीं होता है कि आरोपियों के पास उस वक्त उनका मोबाइल था और वे वहां पर मौजूद थे.

बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि यह भगवान ही जाने की पहलू खान को किसने मारा है पहलू खान को तो यहां पर किसी ने नहीं मारा है, ऊपर वाला ही तय कर पाएगा कि पहलू खान कैसे मरा है?

इधर सरकारी वकील ने कहा कि हमारे पास जो भी एविडेंस पुलिस ने दिए गए हमने पूरी कोशिश की थी मगर अदालत ने हमारी बात नहीं मानी है तो हम ऊपरी अदालत में जाएंगे.

बता दें इसके पहले पहलू खान के बयान पर पुलिस ने 6 लोगों को आरोपी बनाया था मगर उन सभी आरोपियों को जांच के दौरान पुलिस ने क्लीन चिट दे दी थी. इसके बाद में 9 लोगों को आरोपी बनाया गया, जिसमें से 6 बुधवार को बरी हो गए और 3 की सुनवाई किशोर न्यायालय में हो रही है क्योंकि वे नाबालिग हैं.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top