Home > 'बाथरूम से जुड़े ये उपाय सुधारेंगे आपकी आर्थिक स्थिति'

'बाथरूम से जुड़े ये उपाय सुधारेंगे आपकी आर्थिक स्थिति'

 Special News Coverage |  2015-10-24 10:04:42.0

bathroom tips


यूं तो वास्तुशास्त्र और फेंगशुई दोनों के ही प्राचीन ग्रंथों में घर के अंदर टॉइलट को निषेध किया गया है जबकि बाथरूम का घर के अंदर होना शुभ माना गया है। लेकिन आज की जीवनशैली में छोटे से मकान में टॉइलट और बाथरूम एक ही में होते हैं और वो भी एक से ज्यादा। ऐसे में टॉइलट, बाथरूम बनाते समय कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें।

दिशा ज्ञान जरूरी

किसी भी भवन में टॉइलट ईशान कोण को छोड़कर कहीं भी बनाया जा सकता है। ईशान कोण में टॉइलट बनाने से स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियां और आर्थिक कष्ट होने की संभावना रहती है। नहाने के लिए बाथरूम बनाने का सबसे अच्छा स्थान उत्तर या पूर्व दिशा होती है। जरूरत पड़ने पर बाकी दिशाओं में भी बनाए जा सकते हैं जहां पानी के नल व शावर उत्तर या पूर्व दिशा में लगाएं।


पानी का बहाव

ध्यान रखें, बाथरूम में पानी का बहाव उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। यदि संभव हो तो बाथरूम घर के नैऋत्य कोण (पश्चिम-दक्षिण दिशा) में बनवाना चाहिए। अगर ये संभव न हो तो वायव्य कोण (उत्तर-पश्चिम दिशा) में भी बाथरूम बनवाया जा सकता है।

नीले रंग की बाल्टी

वास्तु के अनुसार बाथरूम में नीले रंग की बाल्टी रखना शुभ माना जाता है। इस बात का भी ध्यान रखें कि बाथरूम में रखी बाल्टी हमेशा साफ पानी से भरी रहे। ऐसा करने पर घर में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है।

बाथरूम का दरवाजा

यदि बाथरूम का दरवाजा बेडरूम में खुलता हो तो उसे हमेशा बंद रखना चाहिए। वैसे तो बेडरूम में बाथरूम नहीं होना चाहिए, लेकिन अगर ऐसा है तो बाथरूम के दरवाजे पर पर्दा भी लगाना चाहिए। बेडरूम और बाथरूम की ऊर्जा का परस्पर आदान-प्रदान हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता।

कहां क्या रखें

गीजर आदि विद्युत उपकरण अग्नि से संबंधित हैं, लिहाजा इन्हें बाथरूम के आग्नेय कोण (दक्षिण-पूर्व दिशा) में लगाएं। बाथरूम में एक बड़ी खिड़की और एग्जॉस्ट फैन के लिए अलग से रोशनदान होना चाहिए। बाथरूम में तेल, साबुन, शैम्पू, ब्रश आदि रखने के लिए आलमारी बाथरूम की दक्षिण या पश्चिम दिशा में बनानी चाहिए। साथ ही बाथरूम में गहरे रंग की टाइल्स न लगाएं। हमेशा हल्के रंग की टाइल्स का उपयोग करें।

लगातार नल से पानी टपकते रहना

यदि किसी व्यक्ति के घर में बाथरूम का नल या किसी अन्य स्थान का नल लगातार टपकते रहता है तो यह बात छोटी नहीं है, वास्तु में इसे गंभीर दोष माना गया है। ऐसा होने पर घर में नकारात्मक ऊर्जा अधिक प्रभावशाली हो जाती है। ऐसा होने पर धन का अपव्यय होता रहता है और पैसों की तंगी बनी रहती है। अत: नल से पानी टपकना बंद करवाना चाहिए।

साफ़-सफाई का रखें ध्यान
2-3 दिन में कम से कम एक बार पूरा बाथरूम अच्छी तरह साफ करना चाहिए। बाथरूम यदि एकदम साफ रहेगा तो इसका शुभ असर आपकी आर्थिक स्थिति पर भी पड़ेगा। साफ-सफाई वाले घरों में देवी-देवताओं की विशेष कृपा रहती है।


href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">
Facebook
पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">




Share it
Top