Top
Home > शेयर बाजार > वित् मंत्री निर्मला सीतारमण की पीसी के बाद सेंसेक्स में लगे पंख, 1837.52 उपर गया

वित् मंत्री निर्मला सीतारमण की पीसी के बाद सेंसेक्स में लगे पंख, 1837.52 उपर गया

इससे विदेशी इंवेस्टमेंट आएगा. यह एक कड़ा निर्णय है. इससे लोगों को फायदा होगा.

 Special Coverage News |  20 Sep 2019 6:38 AM GMT  |  दिल्ली

वित् मंत्री निर्मला सीतारमण की पीसी के बाद सेंसेक्स में लगे पंख, 1837.52 उपर गया
x

मुंबई: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस वार्ता के बाद सेंसेक्स में पंख लग गये. यकायक मार्केट लगभग दो हजार पोइंट उपर चला गया. अर्थव्यवस्था पर सरकार ने घरेलू कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट टैक्स 30% से घटाकर 22% करते ही सेंसेक्स में 1837.52 अंकों का उछाल आ गया है. फिलहाल की दिनों की गिरावट के बाद ऊपर चल गया.

GST काउंसिल की बैठक से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कुछ बड़े ऐलान किए. केंद्रीय मंत्री ने कंपनी और कारोबारियों को राहत देते हुए कॉरपोरेट टैक्‍स घटाने की बात कही. केंद्र सरकार के इस ऐलान के साथ ही शेयर बाजार के सेंसेक्‍स में 1800 अंकों की तेजी देखने को मिली तो निफ्टी 500 अंक तक मजबूत हुआ.

- दोपहर 12 बजे सेंसेक्‍स 1790 की बढ़त के साथ 37,885 के स्‍तर पर आ गया. इसी तरह निफ्टी 515 अंक चढ़कर 11 हजार 220 के स्‍तर को टच कर लिया. इस दौरान सेंसेक्‍स के सभी शेयर बढ़त के साथ कारोबार करते दिखे. सबसे अधिक बढ़त मारुति के शेयर में रही. मारुति के शेयर में 10 फीसदी से अधिक बढ़त दर्ज की गई.

- सुबह 11.30 बजे सेंसेक्‍स 37 हजार 400 अंक के स्‍तर पर कारोबार करता दिखा. इसी तरह निफ्टी 11,100 के स्‍तर पर आ गया. इसके कुछ मिनटों बाद सेंसेक्‍स में 1800 अंक से अधिक की तेजी दर्ज की गई. निफ्टी में भी 500 अंक से अधिक की बढ़त देखने को मिली.

- इससे पहले निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान सेंसेक्‍स में 1300 अंक से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली. वहीं निफ्टी 350 अंक से अधिक चढ़ गया.

- वहीं रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्‍तिकांत दास ने इंडिया टुडे के कार्यक्रम में सरकार के इस फैसले को बोल्‍ड कदम करार दिया है. इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2019 में शक्तिकांत दास ने कहा कि इससे कॉरपोरेट को फायदा होगा. इन छूट से कंपनीज को फायदा होगा. इससे विदेशी इंवेस्टमेंट आएगा. यह एक कड़ा निर्णय है. इससे लोगों को फायदा होगा.

बता दें कि गोवा में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की अहम बैठक होने जा रही है. इस बैठक में बिस्किट, माचिस और होटल इंडस्ट्री को राहत मिल सकती है, लेकिन ऑटो सेक्टर को राहत मिलना मुश्किल लग रहा है. इस बैठक के बाद भी बाजार में रौनक देखने को मिल सकती है.

गुरुवार को निवेशकों के डूबे 1.69 लाख करोड़

इससे पहले गुरुवार को बैंक और ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिली. इस वजह से कारोबार के अंत में सेंसेक्स 470 अंक या 1.29 फीसदी के नुकसान से 36,093.47 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह एक बार नीचे में 35,987.80 अंक तथा ऊंचे में 36,613.93 अंक तक गया था.

इसी तरह निफ्टी 135.85 अंक या 1.25 फीसदी के नुकसान से 10,704.80 अंक पर बंद हुआ. यह इसका सात माह का निचला स्तर है. इससे पहले 19 फरवरी, 2019 को निफ्टी 10,604.35 अंक पर बंद हुआ था.

बाजार में मची इस भगदड़ की वजह से निवेशकों के 1.69 लाख करोड़ रुपये डूब गए. दरअसल, बुधवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,40,19,877.32 करोड़ रुपये था, जो अब 1,38,50,541.85 करोड़ रुपये हो गया है. इस लिहाज से मार्केट कैप में 1.69 लाख करोड़ रुपये की कमी आई है. यह निवेशकों के लिए बड़ा झटका है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it