Top
Breaking News
Home > खेलकूद > World Cup Final: विश्व कप में इंग्लैंड पर क्या अपना दबदबा कायम रख पाएगी न्यूजीलैंड टीम?

World Cup Final: विश्व कप में इंग्लैंड पर क्या अपना दबदबा कायम रख पाएगी न्यूजीलैंड टीम?

 Special Coverage News |  14 July 2019 6:19 AM GMT  |  दिल्ली

World Cup Final: विश्व कप में इंग्लैंड पर क्या अपना दबदबा कायम रख पाएगी न्यूजीलैंड टीम?

क्रिकेट विश्व कप में अब अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच गया है. रविवार को दुनिया को एक नया विश्व विजेता मिलने वाला है. न्यूजीलैंड और मेजबान इंग्लैंड के बीच लॉर्डस के मैदान पर खिताबी मुकाबला खेला जाएगा.

टूर्नामेंट के अब तक के मैचों पर ध्यान दें तो कीवी टीम ने अपने आखिरी ग्रुप मुकाबलों में कुछ ख़ास अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था लेकिन सेमीफाइनल में टीम ने भारत के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाई और सबको बता दिया कि वो इस बार वर्ल्डकप जीतने के इरादे से मैदान पर उतरी है.

वहीं इंग्लिश टीम ने भले ही टूर्नामेंट के बीच में लय खो दी थी लेकिन भारत, न्यूज़ीलैंड और सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराते हुए टीम ने टूर्नामेंट में धमाकेदार वापसी की है. 2019 वर्ल्ड कप में दोनों टीमों के बीच यह दूसरी टक्कर होगी. पहली बार जब न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड आमने-सामने हुए थे तो उस मुकाबले में इंग्लैंड ने कीवी टीम को 119 रनों से मात दी थी. ऐसे में जब दुनिया को एक नया वर्ल्ड चैंपियन मिलने वाला है, आइए नज़र डालते हैं दोनों टीमों के बीच अब तक हुए वर्ल्डकप मुकाबलों पर...

दोनों टीमों के बीच वर्ल्ड कप में अभी तक कुल 9 मैच खेले गए हैं. इसमें न्यूज़ीलैंड ने 5 मैच जीते हैं तो वहीं, इंग्लैंड ने 4 मुकाबलों में जीत हासिल की है.

11 जून 1975: इंग्लैंड के नाम रहा पहला मुकाबला

प्रुडेंशियल वर्ल्ड कप 1975 के दौरान दोनों टीमों के बीच पहली बार भिड़ंत हुई थी. इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की. इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड के सामने 266 रनों का लक्ष्य रखा जिसके जवाब में न्यूज़ीलैंड की पूरी टीम 186 रनों पर ऑल आउट हो गई. इंग्लैंड के बल्लेबाज़ कीथ फ्लेचर ने उस मैच में शतक लगाते हुए टीम की तरफ से सबसे ज़्यादा रन बनाए और मैन ऑफ़ द मैच का खिताब अपने नाम किया. इंग्लिश गेंदबाज टोनी ग्रेग ने 4 विकेट झटक कर न्यूज़ीलैंड की बल्लेबाज़ी की कमर तोड़ दी और दोनों टीमों के बीच हुए इस पहले मुकाबले को इंग्लैंड ने 80 रनों से अपने नाम किया.

20 जून 1979: रोमांचक मुकाबले में हुई इंग्लैंड की जीत

इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर फिर एक बार गेंदबाज़ी करने का फैसला किया. इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाज़ी न्यूज़ीलैंड को 222 रनों का लक्ष्य दिया. जवाब में कीवी टीम सिर्फ 212 रन बना सकी. इंग्लैंड की तरफ से 71 रन बनाने वाले ग्राहम गूच को मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

9 जून 1983: इंग्लैंड ने लगाई जीत की हैट्रिक

1983 के वर्ल्डकप में न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड का 2 बार आमना-सामना हुआ. पहले मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया. एलन लैम्ब के शानदार शतक के सहारे इंग्लैंड ने 60 ओवर में 6 विकेट खोकर 322 रन बनाए. जवाब में कीवी टीम की पारी 216 रनों पर सिमट गई. लैम्ब को उनके बेहतरीन शतक के लिए मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

15 जून 1983: न्यूज़ीलैंड ने जीत का खाता खोला

न्यूज़ीलैंड के लिए ये मैच हमेशा ऐतिहासिक रहेगा क्योंकि इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने इंग्लैंड को पहली बार वर्ल्डकप में हराया. मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी की और 234 रन पर उनकी पारी समाप्त हो गई. जवाब में न्यूज़ीलैंड ने 1 गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया. न्यूज़ीलैंड के जेरेमी कोनी को उनके 66 रनों के योग्दांन के लिए मैन ऑफ़ द मैच के अवॉर्ड से नवाज़ा गया.

15 मार्च 1992: न्यूज़ीलैंड ने जीत के सिलसिले को आगे बढ़ाया

न्यूज़ीलैंड ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करते हुए अंग्रेज़ों को 200 रन पर रोक दिया. जवाब में न्यूज़ीलैंड ने 40.5 ओवर में महज़ 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. एंड्रू जोंस को उनके 72 रनों के योगदान के लिए मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

14 फरवरी 1996: न्यूज़ीलैंड ने जीत से हिसाब बराबर किया

इस मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी की. न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 239 रन बनाए. न्यूज़ीलैंड की तरफ से नैथन एस्टले ने शानदार शतक जड़ा. लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड अपने 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 228 रन ही बना पाई. नैथन को उनके लाजवाब शतक के लिए मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

16 मार्च 2007: स्टायरिस ने दिलाई कीवियों को बढ़त

इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया. इंग्लैंड ने अपने 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 209 रन बनाए. जवाब में न्यूज़ीलैंड ने 41 ओवर में 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. स्कॉट स्टायरिस को उनके ऑल राउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड दिया गया. स्टायरिस ने गेंद के साथ 2 विकेट झटके और बल्ले से 87 रनों का योगदान भी दिया. इस जीत के साथ न्यूज़ीलैंड वर्ल्डकप में इंग्लैंड से 4 मैच जीतकर हेड टू हेड की रेस में आगे हो गया.

20 फरवरी 2015: सऊदी के सामने अंग्रेज़ों ने घुटने टेके

इंग्लैंड ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया लेकिन ये उसके ऊपर बहुत भारी पड़ा जब न्यूज़ीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ टीम सऊदी ने 7 विकेट झटक कर इंग्लिश पारी की कमर तोड़ दी और 123 रनों पर पूरी टीम को वापस भेज दिया. कीवियों ने बड़े ही आसानी से 12. 2 ओवर में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. सऊदी को उनकी शानदार गेंदबाज़ी के लिए मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

03 जुलाई 2019: बेयरस्टो ने निकाली न्यूज़ीलैंड की हवा

2019 क्रिकेट वर्ल्डकप के ग्रुप मुकाबलों में जब न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड आमने-सामने आए थे तब इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को 119 रन से हराया था. मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी की. सलामी बल्लेबाज़ जॉनी बेयरस्टो ने तूफानी शतक लगाया और इंग्लिश पारी 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 305 रनों पर ख़त्म हुई. जवाब में न्यूज़ीलैंड की पारी 45 ओवर में 185 रन पर सिमट गई. बेयरस्टॉ को उनके बेहतरीन शतक के लिए मैन ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड दिया गया.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it