Home > Archived > कन्हैया उमर की मौत की बात 10 लाख में, पर्सनल लोन लेकर दिया था 2 लाख एडवांस

कन्हैया उमर की मौत की बात 10 लाख में, पर्सनल लोन लेकर दिया था 2 लाख एडवांस

 Special News Coverage |  20 April 2016 6:41 AM GMT

Amit Jani
नई दिल्ली

देशद्रोह के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार और उमर खालिद को मारने के लिए यूपी नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी और जेएनयू के दो छात्रों के बीच दस लाख रुपये में डील हुई थी। पुलिस की जांच में सामने आया है कि अमित जानी ने दोनों छात्रों को पिस्टल भेजने के साथ ही एडवांस के तौर पर दो लाख रुपये भी दिए थे।

इसे भी पढ़ें कन्हैया को मारने की धमकी देने वाले अमित जानी की गिरफ्तारी को पुलिस की ताबड़तोड़ द्विशें



एडवांस पैसे देने के लिए उसने लाजपत नगर स्थित एक बैंक की शाखा से अप्रैल के प्रथम सप्ताह में दो लाख रुपये का पर्सनल लोन लिया था। लोन मिलने के बाद उसने अपने एक साथी के माध्यम से पैसे दोनों छात्रों तक पहुंचवाया। बाकी के आठ लाख रुपये दोनों की हत्या के बाद देने की बात तय हुई थी।

इसे भी पढ़ें कन्हैया मामला में अमित जानी के ऑफिस में दिल्ली पुलिस का छापा

बीते बृहस्पतिवार को डीटीसी बस में पिस्टल मिलने के मामले में अमित जानी का नाम सामने के बाद से ही दिल्ली पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है। मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने मेरठ स्थित उसके घर सहित तीन जगहों पर छापेमारी की, लेकिन वह नहीं मिला।

इसे भी पढ़ें JNU परिसर में मौत का खौफ, पसरा सन्नाटा चप्पे चप्पे पर चस्पा हुए अमित जानी के पोस्टर

अमित जानी के भाई सौरभ अग्रवाल की दो दिन की पुलिस हिरासत की अवधि समाप्त होने के बाद मंगलवार को पुलिस ने उसे पटियाला हाउस कोर्ट मे पेश किया। जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत मे तिहाड़ जेल भेज दिया गया। वही, तिहाड़ जेल मे बंद अमित जानी के साथी सुलभ भारद्वाज की जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top