Home > Archived > देश का पहला राज्य बना गुजरात, आर्थिक आधार पर अगड़ों को आरक्षण

देश का पहला राज्य बना गुजरात, आर्थिक आधार पर अगड़ों को आरक्षण

 Special News Coverage |  29 April 2016 7:45 AM GMT


reservatipon in gujrat
अहमदाबाद
गुजरात में अब आर्थिक आधार पर अगड़ी जातियों को दस फीसदी आरक्षण मिलेगा। 6 लाख से कम सालाना आय वाले परिवार को इस दायरे में आरक्षण दिया जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार, गुजरात सरकार ने राज्य दिवस के मौके पर आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया है। गुजरात सरकार ने सामान्य वर्ग में पाटीदारों सहित आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण देने की शुक्रवार को घोषणा की। इस आरक्षण के लिए एक मई को अधिसूचना जारी की जाएगी। इसके तहत छह लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले परिवार आरक्षण के पात्र होंगे।



इस फैसले के बाद गुजरात देश का पहला राज्य बन गया है जहां आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए आरक्षण का फैसला किया गया है। सरकार इसके लिए ऑर्डिनेंस लेकर आएगी। सरकार का ऑर्डिनेंस आने से शिक्षा और नौकरी में सवर्णों को भी लाभ मिलेगा। इस आदेश का फायदा पाटीदारों समुदाय को भी मिलेगा जो आरक्षण की मांग को लेकर काफी दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। गुजरात सरकार के मंत्री विजय रूपानी ने बताया कि ऐसे परिवार जिनकी आय 6 लाख सालाना से कम है वह इस आरक्षण के दायरे में होंगे। सामान्‍य श्रेणी में आने वाले आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को भी आरक्षण का मिलेगा।

गौरतलब है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बीते महीने आर्थिक आधार पर आरक्षण की पैरवी की थी। इसी आधार पर ये सरकार द्वारा प्रक्रिया लागू की है। और गुजरात देश का पहला एसा राज्य बना।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top