Top
Home > Archived > डरे नहीं और सहे नहीं महिला शक्ति 1090 का प्रयोग करें - आईजी सिकेरा

"डरे नहीं और सहे नहीं" महिला शक्ति 1090 का प्रयोग करें - आईजी सिकेरा

 Special News Coverage |  14 March 2016 4:48 PM GMT


12477018_678375262265010_963454548_o
मुजफ्फरनगर नितिन कुमार

महिला हेल्प पॉवर लाइन 1090 को महिलाओ और छात्राओ में प्रचार प्रसार करने के लिए आई जी जोन लखनऊ नवनीत सिखेरा ने आज मुज़फ्फरनगर पहुंचकर नवाब अज़मत अली खान गर्ल्स इंटर कॉलेज में आयोजित कर्यक्रम में सैकड़ो महिलाओं और छात्राओ को संबोधित करते हुए महिला हेल्प लाइन 1090 के बारे में जागरूक किया । "डरे नहीं और सहे नहीं" के स्लोगन के साथ महिला हेल्प पॉवर लाइन को आपनी ताकत बनाने के लिए उसकी महवपूर्ण जानकारियां दी।



मुज़फ्फरनगर में एस एस पी के पद पर तैनात रह चुके नवनीत सिकेरा के लिए जनपद वासियों में उत्साह का माहौल देखते ही बनता था। लखनऊ आई जी नवनीत सिखेरा ने बताया है की इस हेल्प लाइन से 5 लाख से ज्यादा महिलाओ को मदद मिलेगी साथ ही 1090 हेल्प लाइन से 70 प्रतिशत महिलाओ की शिकायते बढ़ी है । प्रतिदिन 7 हजार कॉल महिला हेल्प लाइन 1090 पर आ रही है । आने वाले प्रत्येक वर्ष में 4 लाख से भी ज्यादा शिकायते दर्ज होंगी । साथ ही उन्होंने बताया की जल्द ही प्रत्येक जनपद में पावर एन्जेल बनाई जाएँगी । लगभग प्रदेश में दो लाख पावर एन्जेल बनाई जाएँगी । जिन्हे स्कूल कालेज की छात्राओ को जागरूक करना और महिला अपराधो पर लगाम कस तत्काल पुलिस और 1090 पर घटना की जानकारी देना होगा ।

दरअसल इसकी शुरुवात मुख्य मंत्री अखलेश यादव जी के द्वारा की गई है। 15 नवम्बर 2012 को और ये आईडिया इस लिए आया क्योंकि प्रॉब्लम बहुत आ रही थी महिलाये थाने तक नहीं पहुँच पा रही थी। तो ये चर्चा हुई की इसपर कुछ करना चाहिए तो मुख्य मंत्री ने ये आदेश दिया की इस पर तुरंत कारवाही की जरुरत है। एक ऐसी व्यवस्थ बनाई जाये की ताकि लडकिया खुल कर अपनी बात कह सके और उस का हम निस्तारण कर सके। तब जाकर काफी विचार विमर्श करने के बाद लड़कियों के साथ बात चीत करके एक सिस्टम्स बनाया गया इसमें कोई भी महिला 24 घंटे अपनी शिकायत कर सकती है। और उसका नाम भी गोपनीय रखा जायेगा। और शिकायत हल होने के बाद भी उन महिलाओ से दो साल तक बीच बीच में ये पूछा जायेगा की बाद में कोई अब परेशानी तो खड़ी नहीं हुई है। इससे महिलाओ में बहुत कॉन्फिडेंस आ जायेगा की बाई कोई बात होगी तो 1090 पर कॉल कर देंगे। फिर उन्हें लगेगा की हम सेफ है।


एक लड़की ने कहा की 1090 पर कॉल करके शिकायत करना तो एक पिज्जा ऑडर करने के जैसा है। की फोन करो बाकि काम उनका होता है। तो ये हमारे लिए बहुत ही संतोष जनक फीडबैक था। और ये समस्या आज की नहीं है। और ये दबी हुई है इसको हल करने की जरुरत है। जब ये पहली बार शुरू की तो ये डर था की कुछ लोग ये ना कहने लगे की उत्तर प्रदेश में अपराध बढ़ गया है। हम लोग कह रहे है की अपराध बढ़ा नहीं हम लोग मौका दे रहे है लड़कियों को बोलने के लिए की आप बोलो और आप बोलोगी तो अपराध काम होगा अब अगर आपके ऊपर कोई निगहा उठा कर देखे और आप बोल दोगी तो अगले दिन कोईु बड़ा अपराध नहीं होगा अपराध भी धीरे धीरे बढ़ता है। और हमलोग अपराध को उसकी पहली सीढ़ी पर ही रोक दे रहे है। अभी तक़रीबन दो लाख शिकायते दर्ज हो रही है। और हो सकता की आने वाले समय में ये शिकायते हर वर्ष तीन से चार लाख हो। और इस से पहले सफलता भी नहीं मानी जाएगी और ये दो चार साल की या दस बीस साल की समस्या नहीं है हजारो साल की समस्या है। और इसको ठीक करने में सात आठ साल तो लगेंगे पवार अंजिल की परिकिर्या पूरी हो चुकी है। और अप्रैल फ़ास्ट से पवार अंजिल के कार्ड का वितरण करना शुरू कर दिया जायेगा इस वर्ष हम लोग दो लाख पवार अंजिल बना रहे है।


पवार अंजिल जो है। ये स्पेशल पुलिस जो विशेष पुलिस अधिकारी का जो दर्ज प्राप्त होता है। उनका वो ही दर्ज होगा और उनकी जो जुम्मेदारी है। की वो अगर किसी भी महिला के ऊपर अपराध होते हुवे देखेगी तो और वो महिला बोल नहीं पा रही है। तो उसकी आवाज बनेगी। उसको शसक्तीकरण बनाएगी कैसे बने थाने नहीं जाना है। 1090 पर कॉल करके हमें जानकारी दे दे बस कारवाही फिर पुलिस करेगी हम लोग नहीं चाहते की लडकिया या महिलाये सामने आये।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it