Top
Home > Archived > बिहार में बीजेपी का बादा, दलितों को TV तो स्टूडेंट्स को लैपटॉप देंगें

बिहार में बीजेपी का बादा, दलितों को TV तो स्टूडेंट्स को लैपटॉप देंगें

 Special News Coverage |  1 Oct 2015 9:34 AM GMT

bjp_1443690345

पटनाः बीजेपी ने बिहार के वोटरों को रिझाने के लिए अपना विजन डॉक्युमेंट जारी कर दिया है। इसमें स्टूडेंट्स को लैपटॉप, दलित और महादलित परिवारों को टीवी, लड़कियों को स्कूटी, गरीब परिवारों के लिए हर साल धोती-साड़ी देने की बात कही गई है। पटना के मौर्या होटल में वित्त मंत्री अरुण जेठली ने भाजपा का चुनाबी घोषणा पत्र जारी किया। इसे पार्टी ने 'बिहार विजन डॉक्युमेंट' नाम दिया है। बीजेपी के विजन डाक्युमेंट में मेक इन बिहार, डिजिटल बिहार का नारा दिया गया है। इस मौके पर जेटली ने कहा कि जंगलराज के प्रोड्यूसर-डायरेक्टर अब भी हैं, सिर्फ हीरो बदलने से कुछ नहीं बदलता।




भाजपा के अन्य प्रमुख वादे
-शहर में खाली पड़ी जमीन पर दुकानें बनवाकर बेरोजगारों को दी जाएंगी।
-हर परिवार से एक को ई-शिक्षित किया जाएगा।
-भूमिहीनों को 5 डिसमिल ज़मीन घर बनाने के लिए दी जाएगी।
-सभी ब्लॉक में आईआईटी और पॉलिटेक्निक कॉलेज खोले जाएंगे।
-बीजेपी ने नए जिले और ब्लॉक बनाने का वादा।


केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस मौके पर कहा कि उनकी पार्टी सरकार बनने पर बिहार में जंगलराज खत्म करेगी। जेटली ने यह भी कहा, 'आज़ादी को 68 साल हो गए। पहले चार दशकों में कांग्रेस पार्टी की सरकार रही। 15 साल तक आरजेडी रही और पिछले दस वर्षों से जेडीयू की सरकार है। जेडीयू जंगलराज के खिलाफ जीती और आज उसी पर (आरजेडी) पर निर्भर हो गई। भाजपा जूनियर पार्टनर के बतौर कभी हिस्सा रही है, लेकिन पूरे 68 वर्ष गैर-भाजपा सरकारें रही हैं। इतने लम्बे कार्यकाल में राज्य की पूरी तस्वीर बदली जा सकती थी। एमपी भी बीमारू राज्य था, लेकिन शिवराज जी के नेतृत्व वाली सरकार ने पूरी तस्वीर बदल दी। लेकिन यहां तो पूर्व की सरकारों ने कुछ नहीं किया। राज्यों के विकास के पैमाने पर बिहार बहुत पीछे है। बिजली, उद्योग सभी सेक्टर की स्थिति बहुत खराब है। कांग्रेस की सरकार ने भी बिहार की कोई मदद नहीं की।'



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">



जेटली ने जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि इस गठबंधन में वैचारिक दृष्टि, राजनैतिक शैली, विचार में कोई समानता नहीं है। लेकिन क्योंकि राजनैतिक स्थिरता नहीं है, इसलिए ऐसा गठबंधन देखने को मिलता है। ये तीन टांग की दौड़ है जो कभी जीती नहीं जा सकती। इस मौकापरस्ती के गठबंधन (आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस) में शामिल पार्टियों में से किसी का भी राजनीतिक स्थिरता किसी का चरित्र नहीं है।



अरुण जेटली ने कहा, 'बिहार की दो ताकतें हैं। एक तो खेती दूसरी यहां काम करने वाले लोगों की तादाद। लेकिन मौकों की कमी के चलते लोग बाहर चले जाते हैं, इस वजह से यह ताकत बिखर जाती है। यहां पहले एग्रो बेस्ड इंडस्ट्री लगे फिर अन्य कंपनियां लगें। यहां बिजली, पानी, रोड, हाईवे बनें ताकि लोगों को उनका हक मिल सके।'



जेटली ने कहा, 'बिहार में कांग्रेस की ताकत न के बराबर है और आरजेडी यह नहीं मानती कि विकास चुनाव का एजेंडा हो सकता है। ऐसे में मैं मानता हूं कि यहां बीजेपी की सरकार बनेगी। मैं बिहार की जनता से अपील करता हूं कि यहां बीजेपी की सरकार को भारी बहुमत से जिताएं।

वीडियो में देखें, बड़ी खबरें फटाफट - क्या हैं इस समय की बड़ी सुर्ख़ियाँ

[video width="360" height="270" mp4="https://specialcoveragenews.in/wp-content/uploads/2015/10/whatsapp.mp4"][/video]




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it