Home > अच्छे दिन की पहलः 'अमृत' आउटलेट से मिलेंगी 60 से 90 फीसदी तक कम रेट पर दवा

अच्छे दिन की पहलः 'अमृत' आउटलेट से मिलेंगी 60 से 90 फीसदी तक कम रेट पर दवा

 Special News Coverage |  2015-11-16 13:24:55.0

J P Nadda
नई दिल्लीः कैंसर और हृदय रोगों के इलाज के खर्च को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने पब्लिक सेक्टर के साथ मिलकर रविवार को 'अमृत' आउटलेट की शुरुआत की है। इसके तहत रोगियों को रियायती दर पर दवाएं बेची जाएंगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने इसे लॉन्च करते हुए बताया कि भारत में ये रोग तेजी से बढ़ रहे हैं।



नड्डा ने कहा, ‘अमृत (अफोर्डेबल मेडिसिन एंड रिलायबल इम्प्लांट्स फॉर ट्रीटमेंट) कार्यक्रम के तहत हम किफायती दर पर दवाइयां देना चाहते हैं। हमने कैंसर और हृदय रोगों की 202 दवाइयों की पहचान की है, जहां कीमतें औसतन 60 से 90 फीसदी तक कम होने जा रही हैं।’ उन्होंने कहा कि इसी तरह से 148 कार्डियक इंप्लांट केंद्र से दिया जाएगा और उनकी कीमत 50 से 60 फीसदी कम होगी। यह एक पायलट परियोजना है, जिसे एम्स में शुरू किया गया है।


15 दिनों बाद होगी कार्यक्रम की समीक्षा
केंद्रीय मंत्री ने बताया कि सरकार 15 दिनों के बाद कार्यक्रम की समीक्षा करेगी और आने वाले समय में केंद्र सरकार के सभी अस्पतालों में इसे दोहराने की कोशिश की जाएगी। 'अमृत' में कैंसर की कुछ दवाएं 80 से 93 फीसद की कम कीमत पर भी मिलेंगी। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएलएल अमृत स्टोर संचालित करेगी। उन्होंने बताया कि एम्स में जेनरिक दवा स्टोर है, जहां से मरीजों को मुफ्त में दवा दी जाती है। ऐसे जेनरिक दवा स्टोर सभी केंद्रीय अस्पतालों में खोले जाएंगे।


बताया गया कि भारत सरकार के एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड (एचएलएल) को स्थापित किया जाएगा और अमृत औषधालय चलाया जाएगा, जो बाजार दर पर काफी छूट के साथ दवाइयां और उपकरण बेचेगा। यह न सिर्फ एम्स के चिकित्सकों बल्कि अन्य अस्पतालों के चिकित्सकों द्वारा भी रोगियों को दी गई सलाह पर आधारित होगा।

28 लाख लोगों को कभी भी हो सकता है कैंसर
एम्स के निदेशक एमसी मिश्रा ने बताया कि अमृत औषधालय कीमोथेरेपी के लिए ‘डोसेटाक्सेल 120 एमजी’ 93 फीसदी छूट के साथ 888. 75 रुपये में बेचेगा, जिसका अधिकतम खुदरा मूल्य 13,440 रुपये है। आंकड़ों के मुताबिक भारत में हर साल एक लाख लोगों के कैंसर पीड़ित होने का पता चलता है। एक आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक, 28 लाख लोगों को कभी भी कैंसर हो सकता है और पांच लाख लोग हर साल इस रोग से मरते हैं।



मिश्रा ने बताया कि इसी तरह कैंसर के कीमोथेरेपी में दी जाने वाली डोसीटेक्सेल की अधिकतम खुदरा कीमत (एमआरपी) 13,440 रुपये है, जबकि यह दवा स्टोर पर 93 फीसद छूट के साथ 889 रुपये में मिलेगी। इस तरह की अन्य दवाएं भी 80 फीसदी कम कीमत पर मिलेंगी।


Tags:    
Share it
Top