Breaking News
Home > Archived > देश के एक भी बिजलीघर में कोयले की नहीं है कमी - पीयूष गोयल

देश के एक भी बिजलीघर में कोयले की नहीं है कमी - पीयूष गोयल

 Special News Coverage |  7 Feb 2016 6:55 AM GMT

Untitled105

इंदौर

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने देश की बिजली का परिद्रश्य बदलने की कमान सम्भालने वाले सकुशल उर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने दावा किया है कि देश के एक भी बिजलीघर में कोयले की कमी नहीं है। तापीय बिजलीघरों में भरपूर मात्रा में कोयला मौजूद है।

गोयल ने इंंदौर मैनेजमेंट एसोसिएशन के वार्षिक अधिवेशन में कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में एक दौर ऐसा भी था, जब देश के दो तिहाई ताप बिजलीघरों कोयले की कमी के चलते कुछ दिनों के लिए बंद रखना पड़ा था। लेकिन फिलहाल पूरे देश में एक भी बिजलीघर ऐसा नहीं है, जिसमें कोयले की कमी हो।


कोयला भरपूर
उन्होंने बताया कि देश के बिजलीघरों के पास फिलहाल कोयले का 25 दिन का स्टॉक है, जबकि खदानों के निकासों पिटहेड्स में इतना कोयला जमा है जिससे बिजलीघरों को 40 दिन तक चलाया जा सकता है। अब तो हालत यह है कि हम खदानों से इतना कोयला निकाल रहे हैं कि हमारे पास इसे रखने की जगह ही नहीं है।


कोयला क्षेत्र के परिदृश्य को बदला
गोयल ने कहा कि हमने महज 18 महीनों के भीतर देश के कोयला क्षेत्र के परिदृश्य को बदलते हुए खदानों की नीलामी की प्रक्रिया को पारदर्शी और ईमानदार बनाया। हमने सरकारी कोयला कम्पनियों को इस लायक बनाया कि वे कमाल के नतीजे दे रही हैं। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया के उत्पादन में पिछले वित्तीय वर्ष में करीब सात फीसद का इजाफा हुआ था। मौजूदा वित्तीय वर्ष में इस कम्पनी का कोयला उत्पादन लगभग 9.5 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है।

सरकार की दीर्घकालिक सोच
केंद्रीय मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि मोदी सरकार दीर्घकालिक सोच से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि सरकारी योजनाएं पांच बरस नहीं, बल्कि आने वाले दशकों को ध्यान में रखते हुए बनाई जायें ताकि देश विकास के पथ पर लगातार आगे बढ़ता रहे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top