Home > Archived > केजरीवाल को भेज दिए जूतों के लिए पैसे

केजरीवाल को भेज दिए जूतों के लिए पैसे

 Special News Coverage |  4 Feb 2016 9:59 AM GMT

Arvind Kejriwal buy shoes

नई दिल्ली
आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अक्सर आपने खास मौकों पर या तस्वीरों के जरिए देखा होगा कि अक्सर वो मौजे पर सेंडिल पहने दिखाई देते हैं। अभी बीते कुछ दिनों पहले जब फ़्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद भारत दौरे पर आये थे तब राष्ट्रपति भवन में एक समारोह के दौरान केजरीवाल सैंडल पहनकर फ्रांस के राष्ट्रपति से मिले थे।
dd-to-arvind-kejriwal-56b302cb77f58_l


ये फोटो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुई थी। विशाखापत्तनम के व्यापारी सुमित अग्रवाल को यह नागवार गुजरा और उन्‍होंने केजरीवाल को ओपन लेटर लिखते हुए उन्हें 364 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट भेजा है। अपने पत्र में अग्रवाल ने केजरीवाल से आग्रह किया है कि डीडी द्वारा भेजी गई धनराशि से वह अपने लिए जूते खरीद लें ताकि आगे से होने वाले महत्वपूर्ण मौकों पर देश का सम्मान को ठेस न पहुंचे।


केजरीवाल को नसीहत जरूरत और हो तो लिखें
सुमित ने खत में लिखा है कि दिल्ली के सीएम की सैलरी करीब 2 लाख रुपए है, फिर भी वह ऐसे खास मौकों पर सैंडल पहनकर जाना सही बात नहीं है। उन्होंने कहा है कि ऐसी सादगी सीएम को शोभा नहीं देती। सुमित ने कहा कि आपकी तरह मै भी मैकेनिकल इंजीनियर हूं। आपकी तरह मै भी मारवाड़ी बनिया हूं लेकिन आपकी तरह मेरे अंदर आम आदमी का प्राकृतिक आकषर्ण नहीं है। इसीलिए बड़ी कोशिशों के बाद मै आपके लिए 364 रुपए ही जुटा पाया हूं। इस पैसों से आप अपने लिए फॉर्मल ब्लैक शूज खरीद लें और जरुरत हो तो और पैसों के लिए मुझे लिखें।

खत लिखने का कारण
सुमित ने खत में लिखा है कि मेरे शहर में इस वीकेंड पर इंटरनैशनल फ्लीट रिव्यू का आयोजन हो रहा है इस आयोजन में 60 देशों के प्रतिनिधि आएंगे। संभावना है कि आपको भी आमंत्रण मिले। बस इसी वजह से मैं आपको यह खत लिख रहा हूं। लेकिन आप जूते पहनकर ही जाना तो फिर आप सेंडिल में पहुंचे।

सुमित ने लिखा, "सर, आपकी तरह मैं भी एक मकैनिकल इंजीनियर हूं। हालांकि आईआईटी या ऐसे ही किसी दूसरे प्रतिष्ठित से नहीं पढ़ा हूं। आपकी तरह मैं मारवाड़ी (बनिया) भी हूं। लेकिन आपकी तरह मेरे अंदर आम आदमी का वह नैचरल आकर्षण नहीं है, इसीलिए बहुत कोशिश करने के बाद भी मैं बस 364 रुपये जुटा पाया हूं। हालांकि इतने पैसे एक मुख्यमंत्री के लिए काफी नहीं हैं, लेकिन मेरा आपसे अनुरोध है कि कृपया इस छोटे से योगदान को स्वीकार करें और अपने लिए एक जोड़ी बढ़िया ब्लैक फॉर्मल शूज ले लें। अगर आपको और पैसों की जरूरत हो तो मुझे लिखें, जरूरत पड़ी तो मैं कुछ और पैसे जुटाने के लिए पूरे शहर का चक्कर लगा आऊंगा।"

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top