Home > Archived > कन्हैया कुमार पर हमला, पत्थर के बाद फेंकी गई चप्पल

कन्हैया कुमार पर हमला, पत्थर के बाद फेंकी गई चप्पल

 Special News Coverage |  14 April 2016 1:12 PM GMT

कन्हैया कुमार पर हमला, पत्थर के बाद फेंकी गई चप्पल

नागपुर: जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर नागपुर में एक कार्यक्रम में जूता फेंका गया। इस दौरान कार्यक्रम में मुर्दाबाद के नारे भी लगे जिसके चलते कार्यक्रम को रोकना पड़ा। इससे पहले कार्यक्रम के लिए जाते वक्त कुछ लोगों ने कन्हैया कुमार के गाड़ी पर पथराव भी किया था।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को नागपुर में भीम राव अंबेडकर की जयंती के मौके पर गुरुवार के पंजाब राव देशमुख हॉल में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिस वक्त कन्हैया कुमार ने संबोधन शुरु किया उसी वक्त एक युवक ने जूता फेंकर कन्हैया को मारने की कोशिस की। जानकारी के मुताबिक जूता फेंकने वाला शख्स बजरंग दल का कार्यकर्ता बताया जा रहा है।


आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले भी कन्हैया पर हमला हो चुका है। बीते महीने जेएनयू कैंपस में एक युवक ने कन्हैया कुमार को थप्पड़ मारा और गालियां दी थी। बाद में युवक ने माना कि उसने कन्हैया कुमार को सबक सिखाने के लिए ऐसा किया था। इस घटना से पहले कन्हैया कुमार पर हैदराबाद में जूता उछाला जा चुका था।

जूता फेंक जाने के बाद कन्हैया कुमार ने जूता अपने हाथ में उठाया और कहा कि ये लोग जेएनयू वालों से इसलिए डरते हैं, क्योंकि अगर कोई सच बोलता है तो इनकी जमीनें हिलने लगती हैं। कन्हैया कुमार ने आगे कहा कि ये हमारा कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगे।

कन्हैया कुमार ने अपने भाषण में कहा कि हमारा कार्यक्रम महाराष्ट्र में आने का था तो हमने कहा कि 14 को जाएंगे और नागपुर जाएंगे। कुछ लोगों ने कहा कि कुछ लोग आपका विरोध कर रहे हैं तो हमने कहा कि ये उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि पत्थर फेंके। ना आपके पत्थर, ना जेल, ना आपकी गुंडागर्दी से डरेंगे। हम आपकी ब्राह्मणवाद गुलामगिरी को खत्म करेंगे।

Tags:    
Share it
Top