Top
Home > Archived > बिहार चुनावः दूसरे चरण का मतदान समाप्त, 55% हुई वोटिंग

बिहार चुनावः दूसरे चरण का मतदान समाप्त, 55% हुई वोटिंग

 Special News Coverage |  16 Oct 2015 5:49 AM GMT

Bihar Voting


बिहार चुनाव : बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए 32 विधानसभा सीटों पर मतदान खत्म हो गया है। जिसमें कुल 55.14% वोटिंग हुई।
57 पर्सेंट महिलाओं ने मतदान किया, जबकि 52.62% पुरुषों ने वोट डाले।

अगर इस बार के वोटिंग प्रतिशत पर नजर डालें तो कुल मतदान 54.82 प्रतिशत रहा। यानी दूसरे चरण में छह जिलों की जनता मतदान के मामले में प्रथम चरण के मतदान प्रतिशत 57 से पीछे रह गई। लेकिन अगर विधानसभा चुनाव 2010 से तुलना करें तो इस बार नक्सल प्रभावित इलाकों के लोगों ने घर से निकल कर वोट डाला है और पिछली बार के 52 प्रतिशत के रिकॉर्ड को तोड़ दिया।


कितने प्रतिशत रही वोटिंग
गया-55.54%
औरंगाबाद-52.05%
सासाराम-54.66%
जहानाबाद-56.49%
अरवल-53.21%
कैमूर- 57.86%


बिहार में दूसरे चरण के चुनावी मुकाबले का आगाज हो गया है जिसमें वोटर सुरक्षा के लिहाज से महत्वपूर्ण छह नक्सल प्रभावित जिलों के 32 निर्वाचन क्षेत्रों में 456 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला कर रहे हैं। ये जिले हैं कैमूर, रोहतास, अरवल, जहानाबाद, औरंगाबाद और गया।

दूसरे चरण का निर्वाचन क्षेत्र सुरक्षा कर्मियों के लिए बड़ी चुनौती है क्योंकि ये छह जिले बहुत हद तक नक्सवाद की चपेट में हैं। सुरक्षा कारणों को देखते हुए 23 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान एक और दो घंटा पहले खत्म होगा। अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी आर लक्ष्मणन ने बताया कि सभी 32 निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह सात बजे मतदान शुरू होगा। 11 निर्वाचन क्षेत्रों में दिन में तीन बजे तक और 12 में चार बजे तक और बाकी नौ सीटों पर सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा।

कुल 86,13,870 मतदाता हैं और मैदान में 456 उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं जिसमें 32 महिलाएं हैं। कुल 9,119 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

सभी सीटों में मुकाबला बेहद तीखा है। इमामगंज :सुरक्षित एससी सीट: पर सबकी नजर है जहां हम के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का सीधा मुकाबला निवर्तमान विधानसभा के अध्यक्ष जदयू के उदय नारायण चौधरी से है। चौधरी इस सीट पर पांच बार जीत चुके हैं।

मांझी जहानाबाद में मखदुमपुर से भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री प्रेम कुमार :गया शहर:, भगवा पार्टी की राज्य इकाई के पूर्व प्रमुख गोपाल नारायण सिंह :नवीनगर: और राज्य के मंत्री जय कुमार सिंह :दिनारा: समेत अन्य नेताओं के भविष्य का फैसला इसी चरण से होगा। भाजपा विरोधी गठबंधन के लिए इस चरण में काफी कुछ दांव पर टिका है क्योंकि पिछले चुनाव में 32 में अधिकतर सीटें जदयू के खाते में गयी थी।

इस बीच गया के डुमरिया के मैघरा थाने के हरानी रोड पर आईईडी बम मिलने की खबर है। इसके अलावा औरंगाबाद में भी केन बम मिला। नक्सल प्रभावित सभी जिलों में कोबरा फोर्स को खासतौर पर मुस्तैद किया गया है। इसके अलावा खोजी कुत्ते भी लगातार सर्च आॅपरेशन में लगे हैं।


href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">



स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it