Top
Breaking News
Home > Archived > बीजेपी की बीफ पर दोहरी चाल, गोभक्ति की खुली कलई - सपा

बीजेपी की "बीफ" पर दोहरी चाल, गोभक्ति की खुली कलई - सपा

 Special News Coverage |  19 Dec 2015 3:53 PM GMT


CM Akhilesh Yadav


लखनऊः
समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि अब यह बात दिन के उजाले की तरह साफ होती जा रही है कि भाजपा झूठ के सहारे अपनी राजनीति चलाती है। पिछले दिनों अफवाहें फैलाकर उसने देश-प्रदेश में अशांति और अराजकता फैलाने का काम किया था। उसकी अफवाहबाजी का शिकार दादरी में एक मुस्लिम परिवार हुआ। कई जगह और भी हालात बिगाड़ने की नापाक कोशिश हुई। समाजवादी सरकार और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सांप्रदायिक ताकतों को शिकस्त देने के लिए कड़ी प्रशासनिक कार्यवाही के आदेश दिये, जिसके फलस्वरुप उनकी प्रदेश में अशांति फैलाने की साजिशें सफल नही हो सकी।



सपा ने किये पांच जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी घोषित
अब तो यह बात प्रकाश में आ चुकी है कि भारतीय जनता पार्टी मीट निर्यातक कंपनियों से वर्ष 2013-2014 में 250 करोड़ रुपये का दान स्वीकार कर चुकी है। मुजफ्फरनगर कांड में संलिप्त एक भाजपा नेता भी एक निर्यातक कंपनी से जुड़े थे। स्मरणीय है कि बिहार चुनाव में भी ‘बीफ‘ एक मुद्दा बना था और सांप्रदायिक जहर फैलाने की साजिश हुई थी। भाजपा की गोभक्ति की इस दोहरे आचरण से कलई खुल गई है। भाजपा की कथनी और करनी में जहाँ इतना अंतर दिखाई देता है वही उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी सरकार ने गोवंश की रक्षा की दिशा में प्रभावी कदम उठांए हैं। मुख्यमंत्री स्वयं गोपालक है।

विधानसभा की लिफ्ट में फंसे अखिलेश पत्नी डिम्पल

उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा दुग्ध उत्पादन होता है। यह पूरे देश में पहले स्थान पर है। राज्य सरकार ने डेयरी उद्योग को बढ़ावा दिया है। राज्य के हर मण्डल में 100 करोड़ रुपये की लागत से डेयरी प्लांट स्थापित करने का काम जनवरी माह तक पूरा कर लिया जायेगा। कामधेनु योजना हेतु वर्श 2015-16 के बजट में 50 करोड़ रुपये रखे गये है।
अखिलेश कैबिनेट का फैसला, यूपी में पॉलिथीन बैग पर बैन



ग्रामीण क्षेत्रों में दुग्ध विकास कार्यक्रमों हेतु अवस्थापना सुविधा योजनान्तर्गत बल्क मिल्क कूलर एवं आॅटोमैटिक मिल्क कनेक्शन यूनिटों की स्थापना की जा रही है। वित्तीय वर्ष 2015-16 में बजट में इसके लिए लगभग 03 करोड़ रुपये रखे गये हैं। प्रदेश में पशुपालन की विकास दर 12 से 15 प्रतिशत है। समाजवादी सरकार ने 07 बन्द सहकारी दुग्ध संघों यथा मथुरा, आगरा, अलीगढ़, सहारनपुर, बरेली, फिरोजाबाद एवं फतेहपुर को पुनः संचालित कराने का भी काम किया है।

सरकार ने इतनी योजनाएं चलाई हैं कि दूसरे राज्य सोच भी नही सकते – अखिलेश यादव
इसमें दो राय नही है कि जहाँ भाजपा आरएसएस गोवंश के प्रति दिखावटी प्रेम जताते हैं और मांस निर्यातकों से निस्संकोच चंदा वसूली करते हैं वहीं समाजवादी सरकार यह मानती है कि प्रदेश के विकास में गोवंश की अति महत्वपूर्ण भ्ूमिका है। भाजपा समाज को बाँटने के लिए गाय का नाम लेती है। केन्द्र सरकार के पास भी गाय को बचाने तथा संरक्षण देने की नीति या योजना नही है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रदेश में पशुपालन और दुग्ध उत्पादन में वृद्धि के लिए सचेत हैं और प्रदेश में दूध-दही की धारा बहाना चाहते हैं। समाजवादी गाय को उचित महत्व देते हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it