Home > Archived > CM केजरीवाल की दो टूक: नौकरशाहों को काम करना चाहिए, राजनीति नहीं

CM केजरीवाल की दो टूक: नौकरशाहों को काम करना चाहिए, राजनीति नहीं

 Special News Coverage |  20 April 2016 9:52 AM GMT

CM केजरीवाल की दो टूक: नौकरशाहों को काम करना चाहिए, राजनीति नहीं

नई दिल्ली: कभी खुद नौकरशाह रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की राज्य सरकार के साथ कार्य करने वाले नौकरशाहों से राजनीति का भागीदार न बनने की बात कही है। केजरीवाल ने कहा कि राजनीति से सरकार के कामकाज और विश्वसनीयता पर असर पड़ता है जो कि सरकार के काम की गति को प्रभावित करता है। इससे सरकार की साख कम हो जाती है।

सिविल सर्विस डे पर नौकरशाहों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि नौकरशाहों को ईमानदार और पारदर्शी व्यवस्था के लिए काम करना चाहिए। यदि नौकरशाह अपना कार्य ईमानदारी से करेंगे तो यह पारदर्शी सरकार का हिस्सा भी होगा। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दिल्ली के लोगों की उम्मीदों और आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए काम कर रही है। इसी के लिए दिल्ली की जनता ने उनकी पार्टी को चुनाव में भारी बहुमत दिया था। सख्त संदेश देते हुए CM केजरीवाल की दो टूक- नौकरशाहों को काम करना चाहिए, राजनीति नहीं।


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नौकरशाहों से मेरी उम्मीद है कि वे सरकार का साथ दें और नीतियों और कार्यक्रमों के क्रियान्यवयन के लिए मिलकर काम करें। उन्होंने कहा कि बेवजह की राजनीति से कार्यों पर असर पड़ता है जो कि सरकार के काम की गति को प्रभावित करता है। इससे सरकार की साख कम हो जाती है।

ये भी पढ़ें :उपराज्यपाल से अधिकारों की जंग में, सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को दिया झटका

गौरतलब है कि पिछले साल फरवरी में सत्ता में आने के बाद कई मौकों पर केजरीवाल सरकार और नौकरशाहों के बीच मतभेद सामने आए हैं। दिसंबर में दानिक्स कैडर के दो अधिकारियों के निलंबन के विरोध में सभी नौकरशाह एक दिन के मास लीव पर चले गए थे।

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय कर्मचारियोें और राज्य सरकार के बीच भी कई बार तनातनी रही। सीएम अरविंद केजरीवाल और केंद्र सरकार के बीच महत्वपूर्ण पदों पर अधिकारियों की नियुक्ति को लेकर तनातनी रही।

Tags:    
Share it
Top