Home > Archived > गुजरात: हिंसक हुआ पाटीदार आंदोलन, मेहसाणा में लगा कर्फ्यू - इंटरनेट सेवा बंद

गुजरात: हिंसक हुआ पाटीदार आंदोलन, मेहसाणा में लगा कर्फ्यू - इंटरनेट सेवा बंद

 Special News Coverage |  17 April 2016 1:36 PM GMT


Mehsana



अहमदाबाद : गुजरात में पाटीदार आंदोलन एक बार फिर जोर पकड़ लिया है। पाटीदार आरक्षण तथा हार्दिक पटेल की रिहाई के लिए मेहसाणा हुआ जेल भरो आंदोलन हिंसक हो गया। पुलिस व पाटीदारों के बीच लाठी भाटा जंग हुआ, मंत्री नीतिन पटेल के कार्यालय में पथराव हुआ। प्रशासन ने मेहसाणा में सोमवार सुबह तक कर्फ्यू लगा दिया व इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। पास ने सोमवार को गुजरात बंद का ऐलान किया है।

उत्तर गुजरात मेहसाणा के विसनगर से ही पाटीदार आरक्षण आंदोलन की जुलाई 2015 में शुरूआत हुई थी। सरदार पटेल ग्रुप एसपीजी ने रविवार को आरक्षण की मांग तथा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की रिहाई की मांग को लेकर जेल भरो आंदोलन रखा जिसमें राज्यभर से एक लाख पाटीदार पहुंचे।


बडी संख्या में महिलाएं भी आंदोलन में शामिल हुई। एसपीजी प्रमुख लालजी पटेल सभा को संबोधित कर मोढेरा चौकडी गिरफ़तारी देने जा रहे थे इसी दौरान पुलिस व पाटीदारों में लाठी भाटा जंग शुरु हो गई जिसमें लालजी के सिर में चोट लगी तथा वे खून सन गए। केबिनेट मंत्री नीतिन पटेल व भाजपा सांसद जयश्री पटेल के कार्यालय में तोडफोड हुई।

पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए टियर गैस, वाटर कैनन का इस्तेमाल किया बाद में लाठीचार्ज भी किया। जिला प्रशासन ने सोमवार सुबह तक मेहसाणा में कर्फ्यू लगा दिया है तथा जिले में धारा 144 लागू कर दी है। एसआरपी की 6 टुकडियों को तैयार रखा गया है। इस घटना के बाद अहमदाबाद के व्सत्राल में भी सैंकडों पाटीदार युवक सडकों पर उतर आए, मेट्रो ट्रेन के बोर्ड आदि तोड फोड दिए।




अहमदाबाद के पाटीदार बहुल बापूनगर, नारणपुरा व घाटलोडिया में पुलिस गश्त कर रही है। गांधीनगर रेंज आईजी मनोज शशिधर ने कहा है कि एसपीजी प्रमुख लालजी पटेल जनता की ओर से किए गए पथराव में घायल हुए हैं जबकि खुद लालजी का कहना है कि पुलिस ने सिर में लकडी से मारा है, वे इस मामले में पुलिस शिकायत करने वाले हैं। उधर सूरत पुलिस आयुक्त आशीष भाटिया ने कहा है कि आंदोलन के चलते 435 पाटीदार युवकों की धरपकड की गई है।

इस मामले पर मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि पाटीदारों के प्रदर्शन जैसे आंदोलन चलते रहते हैं, सरकार का काम सेवा करना है।

तो वहीं कांग्रेस ने हमला करते हुए कहा कि भाजपा सरकार अहंकार से भरी है, वह लाठी व गोली से सरकार चलाना चाहती है, सीएम का बयान लोकतंत्र में गैरजिम्मेदारी भरा।

Tags:    
Share it
Top