Home > Archived > कन्हैया को मारने की धमकी देने वाले अमित जानी की गिरफ्तारी को पुलिस की ताबड़तोड़ द्विशें

कन्हैया को मारने की धमकी देने वाले अमित जानी की गिरफ्तारी को पुलिस की ताबड़तोड़ द्विशें

 Special News Coverage |  16 April 2016 6:56 AM GMT


Amit Jani
नई दिल्ली
दिल्ली पुलिस ने उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी के छोटे भाई सौरभ अग्रवाल और एक साथी सुलभ भारद्वाज को देर रात से हिरासत में लेकर अमित जानी की गिरफ्तारी का दबाव बढ़ा दिया है। अमित जानी की तलाश में दबिशों का सिलसिला लगातार जारी है।

आपको मालुम हो कि बीते 2 दिन पहले दिल्ली पुलिस ने आईएसबीटी से जेएनयू कैंपस जा रही डीटीसी की बस नंबर 615 से एक हथियारों से भरा हुआ बैग बरामद किया था। दिल्ली पुलिस का आरोप है कि ये हथियार अमित जानी द्वारा जेएनयू कैंपस में अपने साथियों तक कन्हैया कुमार की हत्या के लिए भेजे जा रहे थे। इस बाबत थाना तिलक मार्ग में 25 आर्म्स एक्ट के तहत एक मुकदमा भी दर्ज़ किया गया है।


दिल्ली पुलिस कर रही आतंकियों जैसा सुलूक
आपको बता दें कि बीते दिन दिल्ली पुलिस ने अमित जानी के दिल्ली स्थित दफ्तर पर छापा मारा और उसके बाद पूछताछ के लिए जानी के छोटे भाई सौरभ अग्रवाल और साथी सुलभ को थाने ले आई। खबर लिखे जाने तक दोनों युवक थाने में पुलिस हिरासत में ही है। उधर, अमित जानी ने आरोप लगाया है कि पुलिस के बुलाने पर जांच में सहयोग करने उनका भाई और साथी थाने गये थे, लेकिन पुलिस उनके साथी और भाई के साथ आतंकवादियो जैसा सलूक कर रही है।



कन्हैया की इतनी सुरक्षा क्यों?
अमित जानी ने आरोप लगाया कि जहां एक तरफ देश के कन्हैया जैसे दुश्मनों को पुलिस पीएम की तरह प्रोटेक्ट कर रही है। वहीं, दूसरी तरफ राष्ट्रवादियों के ऊपर अत्याचार हो रहा है। उन्होंने कहा कि देश के लिए बोलने की कीमत हमेशा चुकानी पड़ती है। जबकि देश के खिलाफ बोलने पर सम्मान और सुरक्षा मिलती है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top