Home > Archived > डीजीपी की दरियादिली, नहीं देखी गई परेशानी पकडाया अपना छाता

डीजीपी की दरियादिली, नहीं देखी गई परेशानी पकडाया अपना छाता

 Special News Coverage |  18 April 2016 5:23 AM GMT


javeed_1460805540
लखनऊ
गर्मी ने लोगों को बेहाल कर रखा है। तापमान 44 डिग्री से भी ज्यादा हो। ऐसे में लोग घर से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे। जरा उन ट्रैफिक सिपाहियों के बारे में सोचिए जो पूरे दिन धूप में खड़े रहकर यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने में लगे रहते हैं।

कैसे रहे अगर छाता लेकर सिपाही ट्रैफिक कंट्रोल करें? क्या एक हाथ में छाता ट्रैफिक कंट्रोल करना संभव है, यही जानने की कोशिश की यूपी के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने।


शनिवार को डीजीपी जावीद अहमद और आईजी जोन ए सतीश गणेश लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे। भीषण गर्मी के बीच यातायात सिपाही और होमगार्ड पसीने से लथपथ होकर काम में लगे थे। डीजीपी ने ये नजारा देख उन्हें शाबासी दी और सिपाही सिपाही राजीव कुमार को अपना छाता पकड़ाया और ट्रैफिक कंट्रोल करने को कहा।

उन्होंने सिपाही को अपना छाता तोहफे में दे दिया। डीजीपी दरअसल ये देखना चाहते थे कि एक हाथ में छाता लेकर ट्रैफिक कंट्रोल करना संभव है या नहीं।डीजीपी का ये निरीक्षण ट्रैफिक पुलिस वेलफेयर के संबंध में था। लेकिन हो कुछ भी डीजीपी जावीद अहमद की दरियादिली का सभी कायल होना पड़ा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top