Breaking News
Home > Archived > उत्तर प्रदेश विधान परिषद सदस्य के लिए, सपा ने मशहूर शायर वसीम बरेलवी को चुना

उत्तर प्रदेश विधान परिषद सदस्य के लिए, सपा ने मशहूर शायर वसीम बरेलवी को चुना

 Special News Coverage |  30 April 2016 12:31 PM GMT

उत्तर प्रदेश विधान परिषद सदस्य के लिए, सपा ने मशहूर शायर वसीम बरेलवी को चुना

बरेली: मशहूर शायर प्रो. वसीम बरेलवी को उत्तर प्रदेश विधान परिषद में सदस्य नामित करके सपा ने विधानसभा चुनाव से ऐन पहले बरेलीवासियों को खुश करने की एक कोशिश की है। हालांकि देश विदेश में मुशायरों के मंचों पर वसीम बरेलवी अपनी खास अंदाज की शायरी के लिए एक जाना-पहचाना नाम है। वह शायर ही नहीं, शिक्षाविद और समाजसेवी भी हैं, अखिलेश सरकार से उनको ऐसा सम्मान मिलने की उम्मीद बहुत पहले ही पूरी हो जानी चाहिए थे, लेकिन चुनाव के ऐन मौके पर उनको विधान परिषद में बैठाने के सियासी निहितार्थ समझे जाने लगे हैं।


प्रो. बरेलवी की दो किताबें (शायरी के संग्रह) जल्द आने वाली हैं। अब तक उनकी सात किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं। शनिवार को लखनऊ में आईएएस पार्थसारथी सेन शर्मा की पुस्तक ‘हम हैं राही प्यार के’ के विमोचन समारोह में उन्‍होंने ‘हिन्दुस्तान’ से खास बातचीत में यह कहा।

प्रो. वसीम का मुस्लिम का मुस्लिम ही नहीं दूसरे मजहबों के लोग भी अदब करते हैं। इसको ध्यान में रखकर सपा ने उनको विधान परिषद में जगह दी है। हालांकि सूत्रों का कहना है कि सपा अभी भी दरगाह से जुड़े लोगों को साधने की अपनी मुहिम जारी रखेगी लेकिन पार्टी हाईकमान का मानना है कि प्रो. वसीम को एमएलसी बनाने से भी बरेली के मुस्लिमों में सकारात्मक संदेश जाएगा और इसका फायदा विधानसभा चुनाव में मिलेगा।

खुद को एमएलसी बनाए जाने को प्रो. वसीम बरेलवी साहित्य का सम्मान मानते हैं। वह इसको किसी भी रूप में सियासत से जुड़ा कदम नहीं मानते। उनका कहना है कि यह जिम्मेदारी देकर सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जो मौका दिया है, उसकी वह इज्जत करते हैं। उन्होंने कहा कि वह समाजी समस्याओं को दूर करने और सद्भावना, भाईचारे के लिए काम कर रहे हैं, विधान परिषद सदस्य के रूप में अब इन कामों को और आगे बढ़ाएंगे। बरेली कालेज में शिक्षक रहे प्रो. वसीम बरेलवी साल 2011 से 2014 तक तीन साल के राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top