Top
Home > Archived > पद्मनाभम स्वामी कैसे जागेंगे या किस मंत्र से जागेंगे ये हम तय नहीं कर सकते : सुप्रीम कोर्ट

पद्मनाभम स्वामी कैसे जागेंगे या किस मंत्र से जागेंगे ये हम तय नहीं कर सकते : सुप्रीम कोर्ट

 Special News Coverage |  10 Oct 2015 8:12 AM GMT

Padmanabhaswamy Temple


नई दिल्ली : देश की सर्वोच्च न्यायालय में भगवान विष्णु का मुकदमा चल रहा है। न्यायलय में पद्मनाभम स्वामी मंदिर की सुनवाई के दौरान शनिवार को इस बात पर करीब एक घंटे तक रोचक बहस हुई कि भगवान विष्णु को जगाने के लिए संस्कृत के श्लोक "वेंकेटेशा श्रुप्रभातम." को पढा जाए या नहीं। देश के दो सबसे बडे वकील केके वेणुगोपाल और गोपाल सुब्रहमण्यम ने इस पर बहस की। वेणुगोपाल त्रावणकोर के शाही परिवार की तरफ से तो गोपाल सुब्रहमण्यम ने एमिकस के तौर पर दलीलें पेश की।


एमिकस गोपाल सुब्रहमण्यम ने कोर्ट में कहा कि वेंकेटेशा श्रुप्रभातम श्लोक को मंदिर में कहना जरूरी है ताकि भगवान जागें। वहीं त्रावणकोर के शाही परिवार के वकील वेणुगोपाल ने कहा कि भगवान सोए हुए हैं, इसे योग निद्रा कहते हैं। श्रुप्रभातम श्लोक का उच्चारण करके उनको जगाया नहीं जा सकता। यह सदियों से चली आ रही परंपरा के खिलाफ है।

यह भी कहा कि श्रुप्रभातम श्लोक का उच्चारण तिरूमला के मंदिर में भगवान विष्णु को जगाने के लिए होता है जहां उनकी प्रतिमा सीधी खडी है। लेकिन यहां भगवान सोए हुए हैं इसलिए इस श्लोक का उच्चारण यहां नहीं हो सकता।




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">



इसके बाद गोपाल सुब्रहमण्यम ने कोर्ट में ही श्रुप्रभातम श्लोक पढने शुरू कर दिए। इस पर मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस ठाकुर ने कहा, भगवान कैसे जागेंगे और किस श्लोक के आधार पर, यह हम नहीं तय कर सकते, हम इस बात में जाना भी नहीं चाहते।

कोर्ट ने कहा कि यह पुजारी को ही तय करने दिया जाए कि भगवान को कैसे जगाया जाए या किस भगवान को किस श्लोक से जगाना है। आपको बता दें पद्मनाभमस्वामी मंदिर में पूजा के लिए किन नियमों और प्ररम्पराओं का पालन किया जायेगा यह पुजारी ही तय करते हैं।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it