Top
Home > Archived > रक्षा मंत्री भी रहे पांच बार यहाँ विधायक, लेकिन बीजेपी की करारी हार

रक्षा मंत्री भी रहे पांच बार यहाँ विधायक, लेकिन बीजेपी की करारी हार

 Special News Coverage |  8 March 2016 1:18 PM GMT



पणजी
भाजपा को पणजी शहर नगर निगम (सीसीपी) चुनाव में झटका लगा है क्योंकि पार्टी नगर निकाय में बहुमत हासिल करने में असफल रही है। इन चुनाव के नतीजे मंगलवार को घोषित किए गए। गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने हालांकि कहा कि यह उनकी पार्टी के लिए झटका नहीं है।


भाजपा के प्रत्याशियों को कांग्रेस से निष्कासित विधायक अतानासियो मोंसेर्रात्ते द्वारा खड़े किए गए उम्मीदवारों ने हरा दिया, जिन्हें 30 वॉर्ड वाले नगर निकाय में स्पष्ट बहुमत मिला है। इस नगर निगम क्षेत्र में गोवा की राजधानी पणजी भी आती है। छह मार्च को हुए चुनाव से पहले इस पर भाजपा नीत परिषद का शासन था। मोंसेर्रात्ते के पैनल ने 17 वॉर्ड जीते, जबकि भाजपा 13 वॉर्ड पर ही जीत का परचम लहरा सकी।


कांग्रेस ने नौ वार्डों पर अपने प्रत्याशी उतारे थे लेकिन एक भी जगह उसे जीत नसीब नहीं हुई। नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए पारेसकर ने कहा कि सीसीपी चुनाव के नतीजे पार्टी के लिए झटका नहीं है। हमने अपनी संख्या को बरकरार रखा है। पहले की परिषद में हमारे पास 13 पार्षद थे और हमने इसे कायम रखा है। इससे पहले भाजपा ने विभिन्न छोटे समूहों (निर्दलीयों) के साथ मिलकर परिषद् का गठन किया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिणामों का पणजी विधानसभा क्षेत्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा जिसका पहले प्रतिनिधित्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर करते थे और फिलहाल इस सीट से विधायक भाजपा के सिद्धार्थ कुंकोलिएन्कर हैं। पारसेकर ने कहा कि सिद्धार्थ ने अच्छा काम किया है, खासतौर पर तब, जब पर्रिकर दिल्ली में व्यस्त हैं। मैं उन्हें बधाई देता हूं। जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए मोंसेर्रात्ते ने कहा कि पणजी के लोगों ने स्मार्ट परिषद् का चुनाव किया है। उन्होंने कहा कि मतदाताओं ने कांग्रेस को भी खारिज कर दिया, जिसने भाजपा के साथ मिलकर मेरे प्रत्याशियों की संभावनाओं में बाधा डाली। कांग्रेस पार्टी ने अपने खराब प्रदर्शन पर टिप्पणी किए बिना कहा कि नतीजे दर्शाते हैं कि मतदाता ‘भाजपा मुक्त’ गोवा चाहते हैं। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता दुर्गादास कामत ने कहा कि इस वक्त विपक्ष को एकजुट होकर गोवा को भाजपा से मुक्त कराने की दिशा में काम करना चाहिए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it