Home > Archived > इस जज्बे को सलाम है, भीख माँगना गवारा नहीं था इन्हें

इस जज्बे को सलाम है, भीख माँगना गवारा नहीं था इन्हें

 Special News Coverage |  24 April 2016 8:01 AM GMT

Punjab News
अंबाला
अंबाला से अमृतसर जाते वक़्त ट्रेन जब राजपुरा स्टेशन पर रुकी तो ध्यान अचानक एक बुज़ुर्ग सरदार व्यक्ति पर पड़ा। यह सख़्स बुज़ुर्ग व पाँव से लाचार होने के बावजूद वॉकर के सहारे प्लैट्फ़ॉर्म पर समान बेचकर अपनी आजीविका कमा रहे थे।


क्योंकि भीख माँगना गवारा नहीं था इसे... इस महान इरादे वाले व्यक्ति को दिल से सलाम..

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top