Home > Archived > पाकिस्तान की जेल में भारतीय कैदी की संदिग्ध मौत, बहन ने उठाए सवाल

पाकिस्तान की जेल में भारतीय कैदी की संदिग्ध मौत, बहन ने उठाए सवाल

 Special News Coverage |  12 April 2016 7:25 AM GMT

Kirpal Singh


नई दिल्ली : पाकिस्तान की लाहौर जेल में 20 साल से ज्यादा वक्त से जासूसी के आरोप में सजा का काट रहे भारतीय नागरिक की मौत हो गई। 50 साल के किरपाल सिंह साल 1992 में पाकिस्तान में गिरफ्तार किए गए थे। सोमवार सुबह किरपाल सिंह जेल में संदिग्ध हालत में मृत पाए गए। मरने वाला कैदी लाहौर के कोट लखपत जेल में सरबजीत सिंह के साथ जेल में बंद था।

पचास साल के किरपाल सिंह 1992 में कथित तौर पर वाघा सीमा से पाकिस्तान में घुसे थे जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था । बाद में उन्हें पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बम विस्फोटों के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई थी ।





वहीं, उसकी बहन जगीर कौर ने कहा था कि उनका परिवार आर्थिक तंगी की वजह से उनकी रिहाई की आवाज नहीं उठा सका तथा उनके मामले को उठाने के लिए कोई नेता आगे नहीं आया । जगीर कौर ने कहा कि वो 24 साल से किरपाल का इंतजार कर रही थी, अब उनका शव ही दे दिया जाए।

कोट लखपत जेल के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘किरपाल सिंह सोमवार सुबह कोट लखपत जेल में मृत पाया गया ।’’ उन्होंने कहा कि किरपाल का शव पोस्टमॉर्टम के लिए जिन्ना अस्पताल भेजा गया है । अधिकारी ने कहा कि एक न्यायिक अधिकारी को भी बुलाया गया जिसने कुछ कैदियों के बयान दर्ज किए ।




इधर सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर ने कहा है कि ये मामला सरबजीत जैसा लग रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है जैसा सरबजीत के साथ हुआ वैसा किरपाल के साथ हुआ। उन्होंने कहा कि भारत को मामले की जांच करानी चाहिए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top