Top
Home > Archived > IAS के बाद IPS अफसरों की फेरबदल की तैयारी में सरकार

IAS के बाद IPS अफसरों की फेरबदल की तैयारी में सरकार

 Special News Coverage |  28 March 2016 1:42 PM GMT

CM Akhilesh
लखनऊ
यूपी सरकार कानून-व्यवस्था को लेकर जल्द ही एक दर्जन से अधिक आईपीएस अफसरों के तबादले करने जा रही है। जिसको लेकर गृह विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस वीक से पहले ही जनपदों में तबादले कर दिए जायेंगे। क्योंकि पुलिस वीक में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कानून-व्यवस्था को लेकर पुलिस अफसरों से बातचीत करेंगे। लिहाजा मुख्यमंत्री उन्हीं अफसरों से बातचीत कर निर्देश देंगे, जिन्हें जनपदों में रहना है।



प्रदेश के अंबेडकरनगर, आगरा, मुजफ्फरनगर, आजमगढ़, मेरठ और अन्य जनपदों में होली के पर्व या फिर उससे पूर्व कई स्थानों पर बवाल हुआ। इसके अलावा प्रतापगढ़, पीलीभीत, आगरा और कानपुर देहात में बदमाशों ने वर्दीधारियों को गोली मारी। जिससे प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठने लगा था।

लिहाजा लगातार इन जनपदों में हो रहे अपराध और उसे रोकने में नाकाम पुलिस कप्तानों को हटाने का निर्णय लिया जा रहा है। फिलहाल प्रदेश के एक दर्जन से अधिक जनपदों के पुलिस कप्तानों को हटाए जाने पर निर्णय हुआ है। जिसको लेकर कवायद भी शुरू कर दी गई है।

वहीं प्रदेश में 31 मार्च से आईपीएस वीक शुरू होने जा रहा है। आईपीएस वीक के दौरान जनपदों में तैनात आईपीएस अफसर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से रुबरू होंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री कानून-व्यवस्था को लेकर कई बिन्दुओं पर प्रदेश के पुलिस कप्तानों और अन्य वरिष्ठ अफसरों को निर्देश देंगे।

लिहाजा यह माना जा रहा है कि वह उन्हीं अफसरों को निर्देश देंगे जोकि जनपदों में रहने वाले हैं, जिससे साफ है कि आईपीएस वीक से पहले ही जनपदों में पुलिस कप्तानों को हटाकर नई तैनाती कर दी जाएगी। सूत्र बता रहे हैं कि मंगलवार तक गृह विभाग से जनपदों में पुलिस कप्तानों के फेरबदल की सूची जारी कर दी जाएगी।

2017 का विधानसभा चुनाव करा सकते हैं नये पुलिस कप्तान

प्रदेश में इस बार होने वाले आईपीएस तबादलों को अहम माना जा रहा है क्योंकि जनपदों में भेजे जाने वाले पुलिस कप्तानों को यूपी में वर्ष 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव सम्पन्न कराना होगा। इसी तैयारी से काफी मंथन के बाद जनपदों में पुलिस कप्तानों की तैनाती की जाएगी। सूत्र बताते हैं कि प्रदेश में कई बड़े जनपदों के पुलिस कप्तानों को हटाये जाने पर भी विचार किया जा रहा है। जिसमें लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा, आगरा, आजमगढ़, गोरखपुर, इलाहाबाद और अन्य जनपद शामिल है।

डायरेक्ट IPS अफसर कर रहे है मनमानी
प्रदेश के कई जनपदों में डायरेक्ट आईपीएस अफसर तैनात हैं जोकि अपने मन से ही काम कर रहे हैं। यही नहीं वह अपने कार्यालय में भी शासन द्वारा बताए गए निर्देशों पर अमल नहीं करते हैं। जिसकी लगातार शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंच रही है। इसके अलावा कई डायरेक्ट आईपीएस अफसरों की शिकायत विधायक, मंत्री और स्थानीय नेताओं द्वारा ऊपर तक पहुंच रही है। जिसके बाद इन आईपीएस अफसरों को हटाए जाने का निर्णय लिया गया है।

पवन, अनीस और सुरेश राव को मिल सकती है जिले की कमान
कई आईपीएस अफसर डीजीपी कार्यालय से सम्बद्घ हैं, जिसमें आईपीएस पवन कुमार भी शामिल हैं। लिहाजा इस बार होने वाले फेरबदल में इन्हें किसी जनपद में तैनाती मिल सकती है। इसके अलावा वाराणसी पीएसी में तैनात सेनानायक अनीस अहमद अंसारी और बरेली पीएसी में तैनात सेनानायक सुरेश राव आनन्द कुलकर्णी को तैनाती दिए जाने पर भी विचार किया जा रहा है।

फिलहाल इन अफसरों का जनपदों में रिकॉर्ड कुछ बेहतर नहीं रहा है। सत्ता के गलियारों में इन्हें नापसंद किया जाता है। लिहाजा इन्हें कुछ ही माह में हटा दिया जाता है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it