Top
Home > Archived > पाकिस्तान ने दिल-लिवर निकालकर भारत भेजा किरपाल सिंह का शव

पाकिस्तान ने दिल-लिवर निकालकर भारत भेजा किरपाल सिंह का शव

 Special News Coverage |  20 April 2016 6:51 AM GMT




अटारी : पाकिस्तान अपनी नापाक हरकत से बाज नहीं आया। कोट लखपत जेल में भारतीय कैदी किरपाल सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के दस दिन बाद उसने मंगलवार को उसका शव भारत भेजा लेकिन दिल व लिवर निकाल कर।

अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ बी एस बल ने किरपाल सिंह के शव का पोस्टमार्टम किए जाने के बाद संवाददाताओं से कहा कि ‘पोस्टमार्टम जांच में पाया गया कि उसका दिल और पेट गायब था। हालांकि शव पर किसी तरह की अंदरूनी या बाहरी चोट नहीं पायी गयी।’


उन्होंने आगे कहा, 'अब हम उसके गुर्दे, लीवर और इन दोनों अंगों के नमूने प्रयोगशाला की जांच के लिए अमृतसर से बाहर भेजेंगे, ताकि उसकी मौत से जुड़े बाकी तथ्यों का पता लगाया जा सके।'

किरपाल सिंह की डेड बॉ़डी के साथ आए सामान में एक खत भी मिला, जो उन्होंने मौत से पहले परिवार को लिखा था, पर पोस्ट नहीं कर सके। खत में वे फैमिली से कह रहे हैं कि मिलने आओ या यहां से निकालने के लिए कोई वकील करो। वह बेकसूर हैं और उन्हें जबरन फंसाया जा रहा है। बड़ी मुश्किल से जेल में वक्त कट रहा है।

किरपाल ने लिखा है, ''वह ठीक-ठाक है। कई खत भेजे पर जवाब नहीं आ रहा। ना ही कोई पार्सल मिल रहा है।'' दूसरे खत में आपबीती सुनाते हुए किरपाल ने जफर और अशफाक का जिक्र किया है। खत में किरपाल बार-बार कहते हैं कि जफर उनका ख्याल रखता है और उनके साथ ही वक्त बिताना पसंद करता है। वहीं दूसरी ओर, अशफाक उनके साथ-साथ जफर को भी बुरा-भला कहता है और उनकी कब्र इसी जेल में बनवाने की बात करता है।

किरपाल सिंह कथित तौर पर 1992 में वाघा सीमा पार कर पाकिस्तान चले गए थे और वहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में सीरियल बम धमाकों के एक मामले में किरपाल को मौत की सजा सुनाई गई थी। लाहौर की कोट लखपत जेल में पिछले सोमवार को किरपाल मृत पाए गए थे। खबरों के मुताबिक, गुरदासपुर के रहने वाले किरपाल को बम धमाकों के मामले में लाहौर हाई कोर्ट ने बरी कर दिया था लेकिन अज्ञात कारणों से उनकी मौत की सजा माफ नहीं कराई जा सकी थी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it