Home > Archived > कोलकाताः फ्लाईओवर बनाने वाली कंपनी के 5 अधिकारी गिरफ्तार

कोलकाताः फ्लाईओवर बनाने वाली कंपनी के 5 अधिकारी गिरफ्तार

 Special News Coverage |  1 April 2016 9:01 AM GMT

फ्लाईओवर बनाने वाली कंपनी के 5 अधिकारी गिरफ्तार
पश्चिम बंगाल : कोलकाता पुलिस ने पुल बनाने वाली कंपनी आईवीआरसीएल के पांच अधिकारियों को हिरासत में लिया है। हादसे में 24 लोग मारे गए जबकि कम से कम 88 लोग जख्मी हुए हैं। कंपनी की लीगल हेड ने कहा कि उन्हे एफआईआर के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। कंपनी का कहना है कि हमने सभी स्लैबों को बनाने में सेम मटीरियल इस्तेमाल किया, सिर्फ एक ही कैसे गिर सकती है। साथ ही कंपनी ने कहा कि हमारे कर्मचारियों को भी चोट लगी है, वे हॉस्पिटल में हैं। यह हादसा हमारी लापरवाही से नहीं हुआ।


कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी पांडुरंग राव ने दावा किया कि यह और कुछ नहीं बल्कि भगवान की करनी है। पुलिस ने आईवीआरसीएल के स्थानीय दफ्तर को सील कर दिया है और कंपनी के खिलाफ आईपीसी की धारा 304, 308 और 407 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। राज्य सरकार ने हादसे की उच्च-स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं।

कोलकाता पुलिस की पांच सदस्‍यीय टीम निर्माण कंपनी अाईवीआरसीएल से पूछताछ करने के लिए हैदराबाद दौरे पर है। कोलकाता में मलबे को हटाने का काम जारी है। वहीं सेना के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें यहां फ्लाईओवर गिरने की जगह पर मलबे में कोई और शव मिलने की उम्मीद नहीं है । सेना यहां निकाय अधिकारियों और एनडीआरएफ की टीमों के साथ राहत अभियान में लगी है।

बंगाल क्षेत्र के जनरल ऑफिसर इन कमांड लेफ्टिनेंट जनरल राजीव तिवारी सेना की टीमों की प्रगति पर नजर रखे हुए हैं। उत्तरी कोलकाता में फ्लाईओवर गिरने वाली जगह पर चिकित्सा टीमों, सर्जनों और इंजीनियरों सहित सेना के लगभग 300 जवान मौजूद हैं। राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता भी राहत आैर बचाव कार्य में मदद करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे हैं।

इस इलाके में शहर का सबसे बड़ा थोक बाजार है। पुलिस ने कहा कि मृतकों में 15 की पहचान हो गयी है जबकि शेष के लिए पहचान प्रक्रिया चल रही है। घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि यह राजनीति करने का समय नहीं है और हमें राहत एवं बचाव कार्य पर ध्यान देना चाहिए।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने इस मामले में राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है । मुख्य सचिव वासुदेव बनर्जी ने कहा कि हादसे की उच्च-स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं इस बीच, फ्लाई-ओवर बनाने वाली कंपनी ने इस हादसे को ‘‘भगवान की करनी’’ करार दिया, जिसके लिए उसे आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top