Breaking News
Home > Archived > बिना तलवार के टीपू सुल्तान किस काम के, तलवार तो आज़म के हाथ में है - स्वामी प्रसाद मोर्य

बिना तलवार के "टीपू सुल्तान" किस काम के, तलवार तो आज़म के हाथ में है - स्वामी प्रसाद मोर्य

 Special News Coverage |  25 Feb 2016 6:24 AM GMT

akhilesh-yadav-moryबिना तलवार के

लखनऊ
उत्तर प्रदेश विधानसभा में बहुजन समाजवादी पार्टी और प्रतिपक्ष के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बिना तलवार का ‘टीपू सुल्तान’ बताते हुए उन पर आम जनता खासकर युवकों के साथ वायदा खिलाफी का आरोप लगाया।



मौर्य ने विधानसभा में प्रस्तुत वित्तीय वर्ष 2016-17 के आम बजट पर साधारण चर्चा के दौरान कहा कि टीपू सुल्तान तो बन गए मगर तलवार रामपुर वालों (आजम खां) के हाथ में चली गई।





अखिलेश के घर में बुलाने का नाम टीपू है और बजट पर चर्चा के दौरान वे आजम खां के साथ सदन में मौजूद थे। मौर्य ने चर्चा की शुरूआत बजट भाषण में अखिलेश के इस शेर के जिक्र के साथ की कि ‘जबसे पतवारों ने मेरी नाव को धोखा दिया मैं भंवर में तैरने का हौसला रखने लगा।’ चुटकी लेते हुए कहा कि हम तो पहले ही आगाह कर रहे थे, मगर समझते-समझते बहुत देर हो गई और अब यह हौसला भी काम नहीं आएगा।


स्वामी प्रसाद मौर्य ने विधानसभा चुनाव में जारी सत्तारूढ समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में किए गए वादों का जिक्र करते हुए अखिलेश सरकार के नारे ‘पूरे हुए सारे वादे’ को खंडित करते हुए कहा कि सपा सरकार ने बेरोजगारी भत्ता देने के वादे को रद्दी की टोकरी में फेक दिया और छात्रों को लैपटॉप वितरण के लिए शर्त लगा दी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top