Home > Archived > मेनन को हटाने से शिवराज की तिकड़ी हुई कमजोर

मेनन को हटाने से शिवराज की तिकड़ी हुई कमजोर

 Special News Coverage |  12 April 2016 9:11 AM GMT

Desktop2

भोपाल
पिछले पांच वर्षों से प्रदेश संगठन के महामंत्री अरविन्द मेनन की आखिरकार संघ ने प्रदेश से हटाकर शिवराज की तिकड़ी को कमजोर करने के संकेत दे दिये। यह उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पिछले पांच वर्षों से शिवराज,नंदू भैया और अरविंद मेनन की एक तिकड़ी काम कर रही थी।

हालांकि इस तिकड़ी ने अपनी रणनीति के चलते कई उपचुनाव जीते तो वहीं संगठन को प्रदेश में मजबूती दिलाने के साथ-साथ कांग्रेस सहित अन्य पार्टी के नेताओं को भाजपा में लाने में सफलता प्राप्त की, जिसमें मेनन के पुराने मित्र खनिज कारोबारी कांग्रेस के संजय पाठक भी शामिल हैं। प्रदेश भाजपा में पिछले कुछ दिनों से अरविंद मेनन की विदाई के संकेत मिल रहे थे।


तो आखिरकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की पहल पर संघ के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह द्वारा भेजे गये दो लाइन के इस आदेश में प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को बताया गया कि मेनन को राष्ट्रीय स्तर पर आयामों का प्रभारी बनाया गया है, हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मेनन की मध्यप्रदेश से विदाई रोकने के लिये हरसंभव प्रयास किये गये लेकिन वह असफल ही साबित हुए।


यह उल्लेखनीय है कि मेनन को लेकर पार्टी में कुछ दिनों से उठापटक चल रही थी, हालांकि मेनन की इस प्रदेश से विदाई के बाद कई जगह मायूसी छाई हुई है, तो वहीं राजधानी के उप नगर कोलार क्षेत्र सहित तमाम मेनन के शुभचिंतक मायूस नजर आ रहे हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top