Home > Archived > सड़क पर भीख मांगने से बेहतर है महिला डांस बार में काम कर ले : सुप्रीम कोर्ट

सड़क पर भीख मांगने से बेहतर है महिला डांस बार में काम कर ले : सुप्रीम कोर्ट

 Special News Coverage |  25 April 2016 9:21 AM GMT

सुप्रीम कोर्ट


नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर डांस बार मामले में महाराष्ट्र सरकार को फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि 'सड़क पर भीख मांगने और दूसरे गलत तरीकों से पैसा कमाने से बेहतर है कि कोई महिला डांस बार में काम कर ले।

जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस शिव कीर्ति सिंह की बेंच ने कहा की किसी न किसी बहाने से महाराष्ट्र सरकार डांस बार पर प्रतिबन्ध लगाने की कोशिश न करे। डांस बार में काम करके अगर कोई महिला पैसे कमाती है तो ये उसका संवैधानिक हक है।


सुप्रीम कोर्ट ने इस विषय पर एक अहम टिप्पणी करते हुए सरकार से कहा, 'डांस करना एक पेशा है। अगर यह अश्लील है, तो फिर इसकी कानूनी अनुमति खत्म हो जाएगी। सरकार द्वारा लागू किए गए नियम निषेधात्मक नहीं हो सकते हैं।' अदालत ने सख्ती दिखाते हुए सरकार से ताकीद की कि वह डांस बार को प्रतिबंधित करने की कोशिश ना करे।

अदालत ने प्रदेश सरकार को डांस बार संबंधी उसके नए नियमों को लेकर फटकारा। महाराष्ट्र की फडनवीस सरकार द्वारा बनाए गए डांस बार संबंधी नए नियम में कहा गया है कि शैक्षणिक संस्थानों के 1 किलोमीटर की परिधि में डांस बार नहीं खुल सकेगा। इस नियम को लेकर कोर्ट ने काफी सख्त रुख दिखाया। अदालत ने कहा कि यह नियम सीधे तौर पर हालांकि डांस बार नहीं खोले जाने की बात नहीं करता, लेकिन इसकी शर्तें ऐसी हैं कि इनके कारण बार खोला जाना संभव नहीं हो सकेगा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top