Top
Home > Archived > मोदी सरकार से नाखुश नेहरू की भांजी नयनतारा ने साहित्य अकादमी अवॉर्ड लौटाया

मोदी सरकार से नाखुश 'नेहरू की भांजी नयनतारा' ने साहित्य अकादमी अवॉर्ड लौटाया

 Special News Coverage |  6 Oct 2015 5:08 PM GMT

Nayantara Sahgal


नई दिल्ली : केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर देश की सांस्कृतिक विविधता कायम न रख पाने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू की भांजी और प्रसिद्ध लेखिका नयनतारा सहगल ने अपना साहित्य अकादमी अवॉर्ड लौटा दिया। नयनतारा सहगल को यह प्रतिष्ठित पुरस्कार वर्ष 1986 में उनके अंग्रेज़ी उपन्यास 'रिच लाइक अस' के लिए दिया गया था।

सहगल अपने राजनीतिक विचारों को बेबाक तरीके से व्यक्त करने के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने वर्ष 1975-77 के दौरान इंदिरा गांधी द्वारा इमरजेंसी लगाए जाने के खिलाफ भी कड़ा रुख अपनाया था। सहगल ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार सांस्कृतिक विविधता की रक्षा नहीं कर पा रही है। अगर कोई तर्कशास्त्री या लेखक हिंदुत्व और अंधविश्वास वाली परंपराओं के खिलाफ आवाज बुलंद करता है तो उसे मार दिया जाता है। बता दें कि इसके पहले कन्नड़ लेखक एम.एम. कलबुर्गी की हत्या से दुखी मशहूर लेखक उदय प्रकाश ने भी अपना अवॉर्ड लौटा दिया था।


नयनतारा सहगल ने 'अनमेकिंग ऑफ इंडिया' शीर्षक से एक बयान जारी कर अपने निर्णय के बारे में बताया और इसमें देश के तर्कशास्त्री और लेखकों की हत्याओं पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा, ''साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित कन्नड़ लेखक एम. एम. कलबुर्गी और अंधविश्वास दूर करने के लिए काम करने वाले नरेंद्र दाभोलकर और गोविंद पानसरे की महाराष्ट्र में बाइक सवारों ने हत्या कर दी। एक अन्य तर्कशास्त्री को धमकियां मिल रही हैं कि अब अगला नंबर उसका है।



style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




हाल ही में नोएडा के दादरी में गोमांस की अफवाह के चलते मोहम्मद अखलाक को पीट-पीटकर मार डाला।'' उन्होंने आगे कहा, ''अंधविश्वास के खिलाफ असहमति जताने वाले भारतीयों की हत्या कर दी जाती है। जो अब इसका विरोध कर रहे हैं वह डरे-सहमे हैं। मैं इन सब लोगों के समर्थन में अपना साहित्य अकादमी अवॉर्ड लौटा रही हूं।

उन्होंने कहा, पीएम मोदी बिल्कुल चुप्पी साधे हुए हैं। उन्होंने इन घटनाओं की निंदा करने के लिए एक शब्द भी नहीं बोला। पूरा देश चाह रहा है कि पीएम बयान दें, क्योंकि हालात लगातार गंभीर होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा, मोदी के राज में हम पीछे की तरफ जा रहे हैं, हिंदुत्व के दायरे में सिमट रहे हैं। लोगों में असहिष्णुता बढ़ रही है और बहुत से भारतीय खौफ में जी रहे हैं।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">
Facebook
पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it