Home > Archived > पनामा पेपर्स का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस जश्न नहीं मना सकेगी - अरुण जेटली

पनामा पेपर्स का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस जश्न नहीं मना सकेगी - अरुण जेटली

 Special News Coverage |  11 April 2016 7:52 AM GMT

पनामा पेपर्स का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस जश्न नहीं मना सकेगी - अरुण जेटली

कोलकाता: 'पनामा पेपर्स लीक' मामलें में कई एजेंसियों की जांच जारी होने के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली नें रविवार को अपने बयान में कहा की पनामा पेपर्स की जांच निष्पक्ष तरीके से चल रही है। और जब इस मामले का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस के पास इसका जश्न मनाने के बहुत कारण नहीं रहेंगे। सरकार नें इस जांच में सख्त रुख अपना लिया हैं, तथा इस जांच के लिए कई जांच एजेंसियों का दल गठित किया गया हैं।

आपको बता दें कि पनामा पेपर्स लीक में कथित तौर पर भारतीयों के विदेशी टैक्स पनाहगाहों में निवेश की बात सामने आई है। वित्त मंत्री अरुण जेटली नें कहा 'पनामा पेपर्स की जांच बहुत निष्पक्ष ढंग से की जा रही है और यह कई एजेंसियों की जांच है, जब इस जांच का विस्तृत ब्योरा आएगा तब निश्चय रूप से कांग्रेस के पास ख़ुशी मनाने की कोई भी वजह नही बचेगी'। लीक दस्तावेजों में नामित एक व्यक्ति का करीबी होने के आधार पर खुद को मामले से अलग कर लेने की विपक्ष की मांग से जुड़े एक सवाल के जवाब में जेटली ने कहा, 'मुझे उनकी दलील समझ में नहीं आई।' और साथ ही उन्होंने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) की उस मांग को खारिज कर दिया।


जेटली के बयान का जवाब देते हुए कांग्रेस नें पनामा पेपर्स मामलें की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होनी की मांग की हैं तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली इस मामलें से दूर रहने को कहा हैं। कांग्रेस के अनुसार तभी इस मामलें स्वच्छ एवं निष्पक्ष जांच हो पायेगी। क्योंकि उसके बगैर निष्पक्ष जांच संभव नहीं है। उनका आरोप है कि जेटली इस दस्तावेज में नामित एक व्यक्ति के करीबी हैं। खोजी पत्रकारों के अंतर्राष्ट्रीय संघ (आईसीआईजे) के खुलासे (जिसे पनामा पेपर्स नाम दिया गया है) इसकी जांच के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नें कई जाँच एजेंसियों का दल गठित करने का आदेश दे दिए हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top