Top
Home > Archived > आखिर जिंदगी की जंग हार गया शक्तिमान

आखिर जिंदगी की जंग हार गया 'शक्तिमान'

 Special News Coverage |  20 April 2016 1:25 PM GMT

आखिर जिंदगी की जंग हार गया 'शक्तिमान'

देहरादून: बीजेपी के विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हुए घोड़े 'शक्तिमान' की आज मौत हो गई। सूचना पाते ही उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पु‌लिस लाइन पहुंचे। भारतीय जनता पार्टी के विधायक गणेश जोशी ने कांग्रेस सरकार के विरोध में प्रदर्शन के दौरान शक्तिमान को लाठी से बुरी तरह घायल कर दिया था। जिस कारण शक्तिमान की एक टांग टूट गई थी।

शक्तिमान के इलाज के लिए अमेरिका से नकली टांग भी लगाई गई थी। इसके सहारे शक्तिमान खड़ा तो हो गया था, लेकिन अब वो कभी पुलिस ड्यूटी नहीं कर पाएगा। देहरादून पुलिस लाइन में शक्तिमान का इलाज चल रहा था। बता दें कि बीजेपी की रैली में घायल हुए शक्तिमान की एक टांग को काटना पड़ा था, क्योंकि चोट की वजह से गैंगरीन हो गया था। जिसके बाद शक्तिमान को नकली टांग लगाई गई थी।


डॉक्टरों ने अमेरिका से एक नया पैर मंगवाया जिसकी कीमत लगभग तीन हजार डॉलर थी। पिछले 10 साल से उत्तराखंड पुलिस के लिए काम कर रहे शक्तिमान की टांग काटे जाने के बाद लोग तो सदमे में थे ही पुलिस महकमा भी सदमे में था। देश और दुनिया में शक्तिमान के ठीक हो जाने की दुआएं की गई थी, लोग ये दुआएं कर रहे थे कि‍ शक्तिमान अपनी कृत्रिम टांगों के सहारे फिर से खड़ा हो सके।

विधायक गणेश जोशी और उनके सहयोगियों पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। बीजेपी नेता अजय भट्ट ने शक्तिमान की मौत पर दुख जताया है। उनका कहना है कि बेहतर इलाज नहीं मिल पाने की वजह से शक्तिमान की मौत हो गई है। भट्ट ने मीडिया से बातचीत करते हुए, शक्तिमान की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it