Home > Archived > जलियाँवाला बाग़ की हालत जर्जर और जनरल डायर के घर को संवारने में लगी है सरकारें-शांडिल्य

जलियाँवाला बाग़ की हालत जर्जर और जनरल डायर के घर को संवारने में लगी है सरकारें-शांडिल्य

 Special News Coverage |  14 April 2016 2:23 AM GMT

viresh shandily

अम्बाला
एंटी टेररिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य व फ्रंट सदस्यों ने आज फ्रंट मुख्यालय में जलियाँवाला बाग़ नरसंहार की 97वीं बरसी पर कुर्बानी देने वाले शहीदों को याद किया व भारत माता को पुष्पांजली देकर श्रधान्जली अर्पित की। इस मौके पर कुलवंत सिंह मानकपुर,लखविन्द्र सिंह साधापुर,बिट्टू जट्ट,महिंद्र धीमान,मनीष पासी,रमेश अरोड़ा,अंकुर अग्रवाल,संजीव विक्टर,जसमीत जस्सी,केसर सिंह व कई सदस्यों ने दो मिनट का मौन रख शहीदों को श्रधान्जली दी और भारत माता की जय,जलियाँवाला बाग़ के शहीद अमर रहे और जनरल डायर मुर्दाबाद के नारे लगाए। शांडिल्य ने कहा आज देश में जनरल डायर जैसे गद्दार जन्म ली चुके है और उनका खात्मा करने के लिए देश के युवाओं को उधम सिंह की सोच पर पहरा देना होगा। जैसे उधम सिंह ने जलियाँवाला बाग़ की मिट्टी को हाथ में लेकर जनरल डायर को मारने की प्रतिज्ञा ली थी। ऐसे ही हम सबको देश से आतंकवाद व देश विरोधी ताकतों का जड़मूल से नाश करने के लिए प्रतिज्ञा लेनी चाहिए।


एंटी टेररिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने कहा भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जलियाँवाला बाग की देखरेख के लिए सालाना 50 लाख रूपए देने की घोषणा की थी पर इस पर भी अमल नहीं लाया गया और आज जलियाँवाला बाग की हालत जर्जर हुई पड़ी है। उन्होंने कहा धार्मिक संस्थानों पर सरकार बिजली मुफ्त व कई तरह के किरायों पर छूट दे रही है। पर शहीदों के आँगन के लिए कुछ भी नहीं आज जलियाँवाला बाग़ ब्याज के भरोसे चल रहा है। उन्होंने कहा सरकार किला गोबिंदगढ़ में जर्नल डायर के घर को संवारने का काम कर रही है पर जलियाँवाला बाग की तरफ कोई ध्यान नहीं उन्होंने कहा अगर 15 दिन के अंदर केद्र सरकार व पंजाब सरकार ने जलियाँवाला बाग की देखरेख को लेकर कोई रूख स्पष्ट नहीं किया तो वह अदालत का दरवाजा खटखटायेंगे। शांडिल्य ने कहा पीएम मोदी,राजनाथ सिंह जलियाँवाला बाग़ की देखदेख के लिए तुरंत आदेश जारी करें यही शहीदों को सच्ची श्रधान्जली होगी।

एटीऍफ़आई प्रमुख वीरेश शांडिल्य ने कहा जलियाँवाला बाग में मारे गए लोगों को सरकार ने शहीद का दर्जा देने के एलान किया था पर अभी भी कई मृत लोगों को शहीद का दर्जा नहीं मिला और घोषणा को अमल में नहीं लाया गया है। इसके लिए शांडिल्य ने आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखा है। शांडिल्य ने कहा शहीदों के नाम जलियाँवाला बाग़ में दर्ज करने के लिए शिलापट्ट भी लगाये गए पर दुःख की बात है आज तक उन पर शहीदों का नाम तक भी लिखा नहीं गया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top