Top
Home > Archived > दादरी हत्याकांड : इकलाख के बेटे की अपील कोई बिसाहड़ा ना जाए

दादरी हत्याकांड : इकलाख के बेटे की अपील कोई बिसाहड़ा ना जाए

 Special News Coverage |  3 Oct 2015 4:11 PM GMT

sartaj-letter-560f0d270d25b_exlst


दादरी (नोएडा) : बिसाहड़ा गाँव के सांप्रदायिक तनाव के बीच लोगों को वहां जाने से न रोकने का मकसद पारदर्शिता बनाए रखना है। जिलाधिकारी एनपी सिंह ने सेक्टर-27 कैंप कार्यालय में शुक्रवार को मीडिया से कहा कि लोगों से अपील है कि वे बिसाहड़ा न जाएं। ऐसा इकलाख का बेटा सरताज चाहता है। सरताज लोगों के आवागमन से काफी परेशान है।

जिलाधिकारी ने कहा कि अगर वह लोगों को बिसाहड़ा जाने से रोकते हैं तो इसका विपरीत असर पड़ सकता है। जब तक कोई व्यक्ति कानूनों का उल्लंघन नहीं करता, उसे कहीं जाने से रोकना सही नहीं है।


हम लगातार नजर बनाए हुए हैं। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए प्रशासन सतर्क है। डीएम ने बताया कि जब तक कोई विवादित कार्य या कानून का उल्लंघन नहीं करता है। तब तक हम उसे बिसाहड़ा जाने से नहीं रोक सकते हैं। न ही किसी को धार्मिक स्थल पर जाने से रोका जा सकता है। धार्मिक स्थल पर जाने से कानून का उल्लंघन नहीं होता है। अगर कोई वहां जाकर कोई विवादित बयान देता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

एसएसपी किरण एस ने कहा कि बिसाहड़ा में हुई घटना के बाद इकलाख की पत्नी की तहरीर पर 10 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। इनमें से भूपेंद्र, विवेक, ओम, संदीप, गौरव, सौरव को गिरफ्तार कर लिया गया है।चार आरोपियों की तलाश के लिए चार स्पेशल टीमों का गठन किया गया है। आरोपियों के खिलाफ पहले धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसे इकलाख की मौत के बाद 302 में बदल दिया गया है।

इकलाख की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है जिसमें मौत का कारण चोट बताया गया है। सबसे अधिक चोटें सिर पर हैं। साथ ही, गांव से मिले मांस को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया है। रिपोर्ट आने में समय लगता है।



style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




इस समय सोशल साइट्स के जरिये भी कई लोग माहौल को गरमाने का प्रयास कर रहे हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई के लिए साइबर सेल की मदद ली जा रही है। @anujkg25 सहित कई एक्टिव सोशल साइट आईडी का पता चला है जिनसे सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का काम किया जा रहा है। सही नाम और जानकारी जुटाने के लिए साइबर सेल की मदद से इन सोशल साइट्स से जानकारी मांगी जाएगी।

वहीं, अनुज के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 ए के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। अनुज को चिह्नित कर उसे फौरन गिरफ्तार किया जाएगा।


href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it