Home > Archived > महाराष्ट्र में पड़ रहे सूखे की बजह है साईं पूजा : शंकराचार्य

महाराष्ट्र में पड़ रहे सूखे की बजह है साईं पूजा : शंकराचार्य

 Special News Coverage |  11 April 2016 8:52 AM GMT

shankaracharya swami shri swaroopanand


हरिद्वार : द्वारका-शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने एक बार फिर शिर्डी के साईं बाबा पर निशाना साधा है। इस बार उन्होंने महाराष्ट्र में पड़ रहे सूखे के लिए शिर्डी के साईं बाबा की पूजा को दोषी बताया है।

शंकराचार्य ने कहा, 'अगर सूखे से बचना है तो तुरंत साईं की पूजा बंद होनी चाहिए। महाराष्ट्र के आराध्य भगवान गणेश है इसलिए गणेश की पूजा होनी चाहिए।' उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में गणेश का वास है, लेकिन पूजा साईं की हो रही है। जिस भगवान की पूजा होनी चाहिए, उसका निरादर हो रहा है।


हरिद्वार में उन्होंने कहा है कि जब भी गलत लोगों की पूजा होने लगती है तब सूखे और अकाल मौत जैसे हालात बनते हैं। वहीं शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर उन्होंने कहा कि अब महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ेंगे।

स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा 'साईं एक फकीर थे और वो अमंगलकारी थे..जो पूजा करने लायक नहीं हैं और जब उनकी पूजा होती है तब आपदा आती है। इन जगहों पर सूखा, बाढ़ और अकाल मौत होती हैं और महाराष्ट्र में यह सबकुछ हो रहा है। शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं का प्रवेश भी दुर्भाग्य साबित होगा। शनि एक क्रूर ग्रह है और उसकी पूजा से महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ेंगे।'

इससे पहले भी शंकराचार्य साईं को लेकर विवादित बयान देने के लिए चर्चा में रहे हैं। वह पहले भी साईं पूजा का मान्यता देने का विरोध करते रहे हैं। वर्ष 2014 में उन्होंने साईं पूजा का विरोध करने के लिए एक धर्म संसद का भी आयोजन किया था जहां सर्वसम्मति के साईं पूजा का बहिष्कार करने का ऐलान किया गया था।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top