Top
Home > Archived > अंतर्राष्ट्रीय हवाई उड़ाने रोकेंगे शहीदों के परिवार - क्रांति कुमार

अंतर्राष्ट्रीय हवाई उड़ाने रोकेंगे शहीदों के परिवार - क्रांति कुमार

 Special News Coverage |  28 Jan 2016 4:03 AM GMT



फिरोज़पुर(एच एम त्रिखा): अंग्रेजों के खिलाफ आज़ादी की जंग लड़ने वाले शहीदों के परिजनों को भारत की हकूमत के खिलाफ ही अब जंग लड़नी पड़ रही है कारण है। चंडीगढ़ का हवाई अड्डा पंजाब विधानसभा में पंजाब सरकार ने घोषित किया था। कहा था कि चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा जायेगा। लेकिन सरकार ने सरदार भगत सिंह के नाम पर हवाई अड्डे के नाम की घोषणा नही की जिस पर शहीदों के परिजन भड़क गए हैं।



हाल ही शहीदों के परिजनों ने दिल्ली में 2 दिन केंद्र व पंजाब सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन भी किया। मामले से संबधित मांग पत्र भी देश के राष्ट्रपति को सौंपा है। लेकिन सरकार टस से मस होने को तैयार नही है।


गौरजनक है की धरने प्रदर्शन में सरदार भगत सिंह के भांजे व भाई के पोते समेत शहीदों के परिजनों ने भी भाग लिया। मामले पर विशेष बातचीत करते हुए भगत सिंह के क्रांति कारी साथी रहे स्वर्गीय डाक्टर गया प्रशाद के बेटे क्रांति ने सरकर के खिलाफ तेवर तल्ख करते हुए कहा की अंग्रेज तो भारत छोड़ चले गए लेकिन ये सरकारें भी अंग्रेजों ही जैसी हैं। मामले पर सरकर के कानों पर जूं भी नही रेंग रही हमने मामले की गंभीरता को देख शहीदे आज़म भगत सिंह कमेटी का गठन किया है।


उन्होंने सरकार को चेतावनी देते कहा की यदि सरकार चार हफ्तों के भीतर चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम शहीदे आज़म भगत सिंह के नाम पर रखने की घोषणा नही करेगी, तो शहीदों के परिजनों समेत देश के युवा चंडीगढ़ को कूच करेंगे एवंम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंच कर हवाई उड़ाने उड़ने नही देंगे । हवाई उड़ाने रोकेंगे जब तक सरकार यहां भगत सिंह एअरपोर्ट नही लिख देती।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it